--Advertisement--

सेस का असर : इंदौर में पेट्रोल 78.73 रुपए/लीटर, अब तक का सबसे महंगा

इंदौर में पेट्रोल अभी 78.73 रुपए और डीजल 67.64 रुपए प्रति लीटर हो गया।

Danik Bhaskar | Jan 30, 2018, 05:57 AM IST

इंदौर/भोपाल . इंदौर में पेट्रोल अभी 78.73 रुपए और डीजल 67.64 रुपए प्रति लीटर हो गया। इंदौर के इतिहास में अभी तक दाम इस ऊंचाई पर नहीं पहुंचे थे। इसके पहले साल 2007 में पेट्रोल 78 रुपए और डीजल 65 रुपए के आसपास थे। इंदौर पेट्रोल-डीलर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेंद्र बसु ने कहा कि पुराने रिकॉर्ड में इस ऊंचाई तक पेट्रोल-डीजल के दाम कभी नहीं गए। मप्र शासन द्वारा 29 जनवरी से एक फीसदी सेस लगा देने से पेट्रोल और डीजल ने इन सभी रिकॉर्ड को तोड़ दिया है।

- आज प्रदेश में पेट्रोल पर प्रति लीटर 20.96 रुपए और डीजल पर 12.75 रुपए का टैक्स लिया जा रहा है। बालाघाट में पेट्रोल 80.11 रुपए प्रति लीटर बिका तो सतना में 79.93 रु. लीटर। बुरहानपुर में पेट्रोल की कीमत 79.58 रुपए रही। उत्तर प्रदेश की सीमा से लगे जिले टीकमगढ़ के जतारा में इसके दाम 79.48 रुपए प्रति लीटर पहुंच गए। भोपाल में सोमवार को पेट्रोल के दाम में 85 पैसे और डीजल में 76 पैसे का इजाफा हुआ।

14 अक्टूबर को दी राहत वापस ले ली
- केंद्र के दबाव में मप्र शासन ने 14 अक्टूबर को पेट्रोल में तीन फीसदी और डीजल में पांच फीसदी वैट और डेढ़ रुपए एडिशनल टैक्स कम किया था। 15 अक्टूबर को पेट्रोल 1.70 रुपए और डीजल 3.98 रुपए प्रति लीटर सस्ता हुआ था। लेकिन 14 अक्टूबर से आज दिनांक तक पेट्रोल 5.55 रुपए और डीजल 8.19 रुपए प्रति लीटर महंगा हो चुका है।

इंदौर में वर्ष 1915 में खुले थे पेट्रोल पंप
- इंंदौर में साल 1915 में पेट्रोल पंप खुले थे। एक एलोरा टॉकीज के पास, दूसरा जीपीओ चौराहे पर और तीसरा उसके आगे। उस समय लीटर की जगह गैलन में पेट्रोल मिलता था।

78.73 रुपए के पेट्रोल पर 40.44 रुपए टैक्स

- केंद्र पेट्रोल पर 19.48 रु. लीटर और डीजल पर 15.33 रु. लीटर एक्साइज ड्यूटी ले रहा है। मप्र सरकार का टैक्स और केंद्र की एक्साइज ड्यूटी मिलाकर पेट्रोल के 78.73 रु. में 40.44 रुपए तो टैक्स के ही हैं। इसी तरह डीजल 67.64 रु. में 28.08 रु. है।

29 दिन में पेट्रोल 5.15 और डीजल 3.77 रु. बढ़ा

- 1 जनवरी को डीजल की कीमत 62.49 रुपए प्रति लीटर थी जो 29 जनवरी तक 5.15 रुपए बढ़कर 67.64 हो गई जबकि पेट्रोल 74.96 रुपए प्रति लीटर था जो 29 जनवरी तक 3.77 रुपए बढ़कर 78.73 रुपए हो गया।

रकार भर रही अपनी जेब... पेट्रोल पर उत्पाद शुल्क 120% तक बढ़ा

- 2014 में आई नरेंद्र मोदी सरकार के कार्यकाल में डीजल पर उत्पाद शुल्क 380 प्रतिशत से ज्यादा बढ़ाया गया है। इस दौरान यह 3.56 रुपए से
बढ़कर 17 रुपए प्रति लीटर हो गया है।

- मोदी सरकार में पेट्रोल के उत्पाद शुल्क में 120 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। मौजूदा सरकार के सत्ता में आने के समय इस पर उत्पाद शुल्क 9.48 पैसे था जो फिलहाल 21 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच चुका है।

एक टैंकर पर 23 रु. प्रति किमी ट्रांसपोर्टेशन खर्च

- बॉर्डर के जिले सप्लाई लाेकेशन से दूर होते हैं। यही वजह है कि यहां रेट ज्यादा होते हैं। उदाहरण के लिए बुरहानपुर में इंदौर के मांगलिया से पेट्रोल-डीजल की सप्लाई होती है।

- बुरहानपुर से इंदौर की दूरी 200 किलोमीटर से ज्यादा है। इसीलिए बुरहानपुर में पेट्रोल-डीजल इंदौर से महंगा होगा।

- तेल कंपनियां दो तरह के ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल करती हैं। एक प्राइवेट, दूसरे डीलर ट्रांसपोर्टर से। ऐसे मेें 12000 लीटर के एक टैंकर पर लगभग 23 रुपए प्रति किलोमीटर का चार्ज बनता है।