--Advertisement--

ताला लगाकर पुलिस सो गई, बेखौफ चोर घर में घुसे, सौ फीट दूर ले जाकर तोड़ी

रात बदमाशों ने चोरी की वारदात को अंजाम दिया। तीन घरों से बदमाशों ने नकदी व जेवरात पर हाथ साफ किया।

Danik Bhaskar | Dec 28, 2017, 07:10 AM IST

पिपलियामंडी (इंदौर). नगर में मंगलवार रात बदमाशों ने चोरी की वारदात को अंजाम दिया। तीन घरों से बदमाशों ने नकदी व जेवरात पर हाथ साफ किया। बदमाश इतने बेखौफ थे कि वे एक घर से अालमारी तक बाहर ले आए और उसमें से नकदी व जेवरात चोरी कर ले गए। घटना की जानकारी लोगों ने रात को ही पुलिस को दी लेकिन एफआरवी मौके पर नहीं पहुंच पाई। थाने पर सूचना दी गई तो किसी ने फोन रिसीव नहीं किया। सुबह पहुंचने पर भी थाने में ताला लगा मिला और अंदर जवान सोते दिखे। इधर टीआई रात को सूचना मिलने की बात से इनकार करते हुए जानवरों के आने के कारण थाने का दरवाजा बंद रखने की बात कह रहे हैं।

- मंगलवार रात बदमाशों ने न्यू बस स्टैंड क्षेत्र स्थित स्लेट-पेंसिल कारखाने के पास तीन घरों के ताले तोड़े। बदमाश यहां से जेवरात सहित नकदी ले गए। बदमाशों की पूरी हरकत सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई।

- बदमाशों ने रात 1 बजे भेरूलाल पिता प्यारचंद दमामी कांचवाले के घर में घुसने का प्रयास किया। परिजन के जागने के बाद वहां से भाग निकले। क्षेत्र में चोरों के होने की सूचना रात को ही डायल 100 पर दी गई। 10 मिनट बाद पिपलियामंडी डायल 100 से कॉल आया और पता पूछा गया लेकिन सुबह तक डायल 100 मौके पर नहीं पहुंची।

करीब 80 किलो की थी आलमारी, तोड़कर जेवरात व नकदी ले गए

- कन्हैयालाल पिता तुलसीराम पाटीदार ने बताया चोर ताला तोड़कर घर में घुसे और छानबीन की। इसके बाद घर में रखी 70 से 80 किलो लोहे की अालमारी घर से निकालकर 100 फीट दूर ले गए। वहां ताला तोड़कर आलमारी में रखे जेवरात सहित नकदी ले गए।

- पड़ोस में स्थित पप्पू पिता कालूराम धोबी के घर से चांदी के कड़े, ब्रेसलेट सहित 22 हजार रुपए नकदी ले गए। पवन (दीपक) के सूने मकान में रखे 2 हजार रुपए ले गए। सूचना पर सुबह डॉग स्क्वॉड ने 1 किमी तक सर्च किया लेकिन कुछ भी नहीं मिला।

- फरियादी पाटीदार के अनुसार घटना की जानकारी उन्होंने रात को भी दी थी लेकिन पुलिस नहीं पहुंची। सुबह जब खुद थाने पहुंचा तो वहा ताला लगा था और जवान अंदर सो रहे थे।

बहानेबाजी : डायल 100 गई थी पर कोई नहीं मिला
- मामले में टीआई कमलेश सिंगार का कहना है कि रात को सूचना पर डायल 100 मौके पर पहुंची थी लेकिन वहां कोई नहीं मिला। रहा सवाल थाने में ताला लगाने का तो यह बात गलत है। ताला नहीं लगा था केवल गेट लगा था वह भी इसलिए कि ठंड के दिनों में जानवर आ जाते हैं। ताला लगा होने की बात सरासर गलत है।

सरकारी जवाब : आकर मामले में पूछताछ करूंगा
- अभी मैं इंदौर में हूं। थाने में ताला लगा रहने की जानकारी नहीं है, आकर पूछताछ करूंगा।
भारतभूषण चौधरी, एसडीओपी मंदसौर ग्रामीण