इंदौर

--Advertisement--

रिजर्वेशन कन्फर्म नहीं, ट्रेन में कई नेशनल खिलाड़ियों को खड़े खड़े इंदौर से दिल्ली जाना पड़ा

स्पर्धा में कुश्ती, हैंडबॉल, साफ्टबॉल, नेटबॉल, रोप स्कीपिंग, कबड्‌डी, जूडो, मार्शल आर्ट्स, थ्रो बॉल आैर कुराश के मुकाबले

Danik Bhaskar

Jan 03, 2018, 07:38 AM IST

इंदौर. राष्ट्रीय शालेय स्पर्धा 3 जनवरी से दिल्ली में आयोजित हो रही है। स्पर्धा में कुश्ती, हैंडबॉल, साफ्टबॉल, नेटबॉल, रोप स्कीपिंग, कबड्‌डी, जूडो, मार्शल आर्ट्स, थ्रो बॉल आैर कुराश के मुकाबले खेले जाएंगे। इनमें अंडर-14, 17 आैर 19 आयु वर्ग के करीब 285 खिलाड़ी मध्यप्रदेश का प्रतिनिधित्व करने के लिए सोमवार रात ट्रेन से दिल्ली रवाना तो हुए, लेकिन इन खिलाड़ियों के लिए इंदौर से दिल्ली का तक सफर किसी कठिन परीक्षा से कम नहीं था। क्योंकि लोक शिक्षण विभाग की लापरवाही के चलते कई खिलाड़ियों का रिजर्वेशन कंफर्म नहीं हो पाया औैर उन्हें ट्रेन में खड़े-खड़े ही दिल्ली तक सफर करना पड़ा।

- खिलाड़ियों आैर साई कोच वेदप्रकाश, वीरेंद्र निचित आैर राहुल ठाकुर ने बताया कि उन्होंने इस अव्यवस्था को लेकर शिकायत दल प्रबंधक अनिता भारती को भी की है। इधर, मध्यप्रदेश दल प्रबंधक अनिता भारती का कहना है कि अंतिम समय पर खिलाड़ियों की टिकट बुकिंग की गई जिसके कारण टिकट कन्फर्म नहीं हो सके। इसकी जानकारी अधिकारियों को दे दी गई है।

एक बर्थ में 3 खिलाड़ी
- इंदौर से दिल्ली तक के सफर में खिलाड़ियों ने कई समस्याओं का सामना करना पड़ा। विभिन्न टीमों के कोच का कहना है रिजर्वेशन नहीं होने से एक सीट पर तीन-तीन बच्चों को बैठाया गया। इस बीच इन खिलाड़ियों को जहां जगह मिली, वहीं पर सो भी गए। अन्य व्यक्ति की बर्थ पर बैठने के कारण उन्हें बार-बार इधर से उधर भागना पड़ रहा था।

11 बच्चों को मिली बर्थ
- कुश्ती कोच वीरेंद्र निचित ने बताया कि कुश्ती के करीब 44 बच्चे मध्यप्रदेश का प्रतिनिधित्व करने के लिए दिल्ली रवाना हुए थे। इनमें केवल 11 बच्चों को सीट मिली, जबकि अन्य बच्चे को रातभर परेशान होते रहे। यही नहीं विभिन्न स्टेशन पर टीसी के द्वारा खिलाड़ियों से पूछताछ की, सो अलग।

पहलवानों को खुराक में दिए चाय आैर पोहे
- कोचिंग कैम्प 26 दिसंबर से इंदौर में आयोजित था। कुश्ती में भाग लेने गए खिलाड़ियों की शिकायत है खुराक में दूध, घी, अंडे की जगह चाय-पोहे दिए। जबकि वर्जिश के बाद खुराक में यह चीजें नहीं दी जाती है।

Click to listen..