Hindi News »Madhya Pradesh News »Indore News »News» Suspicion Of An Illegal Relationship With The Wife

पत्नी से अवैध संबंध का था शक, इस वजह से सुपारी देकर कराई थी ट्रक ड्राइवर की हत्या

Bhaskar News | Last Modified - Feb 08, 2018, 08:14 AM IST

शहर के तेजाजी नगर इलाके में वर्ष 2016 में हुए एक ट्रक ड्राइवर के अंधे कत्ल का खुलासा क्राइम ब्रांच ने किया है।
  • पत्नी से अवैध संबंध का था शक, इस वजह से सुपारी देकर कराई थी ट्रक ड्राइवर की हत्या
    +1और स्लाइड देखें

    इंदौर .शहर केतेजाजी नगर इलाके में वर्ष 2016 में हुए एक ट्रक ड्राइवर के अंधे कत्ल का खुलासा क्राइम ब्रांच ने किया है। टीम ने हत्या करवाने वाले गैरेज संचालक सहित पांच बदमाशों को गिरफ्तार किया है। पकड़ाए बदमाशों में दो के पुराने आपराधिक रिकॉर्ड भी हैं। डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र ने बताया दिसंबर 2016 में तेजाजी नगर इलाके में बायपास पर एक ट्रक में दर्शन सिंह (33) निवासी ग्राम बटव जिला रोपड़ पंजाब की लाश मिली थी। दर्शन बीते चार सालों से इंदौर में ही रह रहा था।

    - घटना को लेकर पहले देवास के कंजर गिरोह के बदमाशों पर शक गया था कि लूट के लिए उन्होंने उसे यहां लाकर मारा होगा, लेकिन ऐसे कोई सुराग नहीं मिले। बाद में मुखबिर से सूचना मिली कि हत्याकांड को गब्बर उर्फ अमरजीत ने अंजाम दिया है।

    - इस पर टीम ने उस पर नजर रखी और घटना को लेकर पड़ताल के बाद उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने कबूला कि उसी ने शैलेंद्र उर्फ कन्नू, मनोज पाठक और इसाक के साथ मिलकर हत्या की थी।

    - इस हत्या के लिए उन्हें स्कीम नंबर 114 में रहने वाले गैरेज संचालक गुरुचरण सिंह उर्फ भोला (40) पिता गुरुदेव सिंह ने तीन लाख रुपए की सुपारी दी थी। यही नहीं सुपारी के डेढ़ लाख रुपए भी नकद दे दिए थे। टीम ने गब्बर की निशानदेही पर एक-एक कर सभी बदमाशों को उठाया तो हत्याकांड का खुलासा हो गया।

    आरोपियों ने शराब पार्टी के बहाने बुलाया, फिर मार दिया
    - आरोपी गुरुचरण सिंह ने पूछताछ में बताया उसका निरंजनपुर चौराहे पर गैरेज है। उसके दोस्त अमरजीत के ट्रांसपोर्ट के ट्रक उसी के यहां सुधरते थे। दर्शनसिंह का उसके गैरेज पर आना-जाना रहता था। इसी दौरान दर्शन उसकी पत्नी पर बुरी नजर रखता था। कई बार उसे समझाइश देने के बाद भी वह नहीं माना तो उसकी हत्या की ठान ली। इसके लिए उसने आरोपी गब्बर से संपर्क किया।

    - गब्बर राजी हो गया। उसने अपने साथी इसाक, मनोज और शैलेंद्र को शामिल किया। तीनों ने दर्शन को शराब पार्टी के बहाने बुलाया। एक ढाबे पर शराब पिलाई और फिर उसे तेजाजी नगर बायपास पर ले जाकर नशे में ट्रक के कैबिन में पड़ी रस्सी से गला घोंटकर मार दिया। बाद में वे उसकी लाश को वहीं छोड़कर भाग गए।

    सुपारी के बाकी रुपए नहीं देने पर पड़ी फूट
    - हत्या के बाद गब्बर ने गुरुचरण सिंह से शेष डेढ़ लाख रुपए मांगे तो वह टालने लगा। उसने कई बार मोबाइल तक बंद कर लिए। इसी को लेकर उनकी आपस में तनातनी होने लगी। उनके बीच पड़ी फूट से पुलिस को गब्बर के हत्या में होने की जानकारी मिली और पुलिस ने गब्बर के जरिए सभी हत्या के आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

    - आरोपी शैलेंद्र वर्तमान में सोम ग्रुप में काम करता है। उसके खिलाफ देवास में चोरी, मारपीट, चाकूबाजी, लूट के 15 से ज्यादा अपराध दर्ज हैं। वहीं इसाक पर थाना हीरा नगर में मारपीट, चाकूबाजी, आर्म्स एक्ट के करीब 10 अपराध हैं। वह गब्बर का करीबी रहा है। गब्बर ने सभी को हत्या के लिए 10 से 20 हजार रुपए दिए थे। बाकी खुद रख लिए थे।

  • पत्नी से अवैध संबंध का था शक, इस वजह से सुपारी देकर कराई थी ट्रक ड्राइवर की हत्या
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Indore News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Suspicion Of An Illegal Relationship With The Wife
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From News

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×