Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» Taught Daughter-In-Law, Today Will Marry Younger Son

बेटे की मौत के बाद ससुराल वालों ने बहू को पढ़ाया, अब देवर से होगी शादी

ससुर बोले, परंपरा के नाम पर बहू की जिंदगी दांव पर लगाना मंजूर नहीं।

शरद गुप्ता | Last Modified - Dec 11, 2017, 01:06 AM IST

    • बहू गायत्री के हसबैंड की रोड एक्सीडेंट में मौत हो गई थी।

      नागदा (इंदौर). नागदा में एक जाट फैमिली ऐसी भी है जिसने बेटे की एक्सीडेंट में मौत के बाद बहू को घरने में ही रखने की बजाए उसे पढ़ने भेज दिया। अब बहू ग्रैजुएट हो गई है। ससुर ने अपने छोटे बेटे से बहू की शादी कराने का फैसला किया। यह परंपराओं को तोड़ने की ओर एक बड़ा फैसला था। हादसे में हो गई थी बड़े बेटे की मौत...

      - जाट कम्युनिटी के राजेंद्र चौधरी ट्रांसपोर्ट बिजनेसमैन हैं। लगभग साढ़े पांच साल पहले 17 फरवरी 2012 को तीन बेटे में सबसे बड़े आईटी इंजीनियर सुमित का विवाह बखतगढ़ के जाट परिवार की गायत्री से किया था।

      - 2 जून 2014 को सुमित की हादसे में मौत हो गई। पिता के सपने तो टूटे ही बहू और 7 माह की पोती धनवी के भविष्य पर भविष्य भी खो गया।

      - बेटे को खोने के बाद भी राजेंद्र ने हिम्मत नहीं छोड़ी। बहू को गर्ल्स कॉलेज में एडमिशन दिलाया।

      - वह ग्रेजुएट बनकर कम्युनिटी के लिए प्रेरणा बनकर उभरी। अब छोटे बेटे हितेश से शादी करवाई।

      रुढ़ियों में उलझता तो जिंदगी तबाह हो जाती
      - गायत्री के ससुर राजेंद्र चौधरी ने बताया कि जाट कम्युनिटी में पति की मौत के 6 माह बाद तक बहू को परदे में रखने की प्रथा है। विधवा बहू को खाना-पीना भी अछूत समझकर दूर से परोसा जाता है, लेकिन मैं ऐसा कैसे होने देता। रुढ़ियों में उलझता तो बहू की जिंदगी तबाह हो जाती। परंपरा के नाम पर उसकी जिंदगी दांव पर लगााना मंजूर नहीं।

    • बेटे की मौत के बाद ससुराल वालों ने बहू को पढ़ाया, अब देवर से होगी शादी
      +3और स्लाइड देखें
      7 माह की पोती धनवी के फ्यूचर को देखते हुए अब बहू की शादी देवर से होगी।
    • बेटे की मौत के बाद ससुराल वालों ने बहू को पढ़ाया, अब देवर से होगी शादी
      +3और स्लाइड देखें
      राजेंद्र चौधरी ट्रांसपोर्ट बिजनेसमैन हैं।
    • बेटे की मौत के बाद ससुराल वालों ने बहू को पढ़ाया, अब देवर से होगी शादी
      +3और स्लाइड देखें
      पोती धनवी।
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Indore News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: Taught Daughter-In-Law, Today Will Marry Younger Son
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    More From News

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×