Home | Madhya Pradesh | Indore | News | Child death in SNCU recruitment

​एसएनसीयू में भर्ती नवजात की मौत, परिजन ने अस्पताल में किया जमकर हंगामा

8 मार्च को जिला अस्पताल में हुई थी प्रसूति, बच्ची की तबीयत खराब होने से एसएनसीयू में भर्ती किया था

dainikbhaskar.com| Last Modified - Mar 14, 2018, 01:54 PM IST

Child death in SNCU recruitment
​एसएनसीयू में भर्ती नवजात की मौत, परिजन ने अस्पताल में किया जमकर हंगामा

इंदौर। झाबुआ जिला अस्पताल में बुधावार सुबह एसएनसीयू में भर्ती नवजात की मौत हो गई। मासूम की मौत के बाद परिजन आक्रोशित हो गए और डॉक्टरों पर लापरवाही का अारोपी लगाते हुए जमकर हंगामा किया। बता दें कि मासूम का जन्म 8 मार्च को हुआ था।

 

 

- मिली जानकारी अनुसार पिटोल के कालिया छोटा गांव की रहने वाली प्रियंका पति रविंद्र जामुनिया को 8 मार्च को परिजन डिलेवरी के लिए जिला अस्पताल लेकर आए थे। रात करीब 12 बजे उसने एक बेटी को जन्म दिया था। बच्ची के ब्लड में इंफेक्शन हाेने पर उसे एसएनसीयू में भर्ती किया गया था। पांच दिन एसएनसीयू में रही बच्ची की बुधवार सुबह अचानक तबीयत बिगड़ी और उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई।

 

- मासूम की मौत की सूचना मिलते ही परिजन आक्रोशित हो उठे और डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया। मासूम के पिता रविंद्र ने अारोप लगाया कि उनकी बेटी की मौत डॉक्टरों की लापरवाही के कारण हुई है। डॉक्टर यदि सही स्थिति बता देते तो वे बड़े अस्पताल ले जाते।

 

- डॉ. सचिन बावनिया ने के अनुसार जन्म से ही बच्ची की हालत सीरियस थी, इसी कारण उसे एसएनसीयू में रखा गया था। रात में उसकी अचानक तबीयत बिगड़ गई, डॉक्टरों ने उसे बचाने की हरसंभव कोशिश की, लेकिन बचा नहीं पाए। परिजन डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगा रहे हैं, जो कि पूर्णत: गलत है।

 

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now