Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» These Are The Youngest And Flamboyant Women Sub-Inspectors Of Jhabua District.

लेडी सिंघम को देखते ही छिप जाते हैं गुंडे, पकड़ चुकी हैं ईनामी डकैत को

जिले की सबसे बड़ी पुलिस चौकी सारंगी की कमान है इनके हाथ, 80 से अधिक गांव और 40 हजार आबादी से जुड़ी हैं।

सचिन बैरागी | Last Modified - Mar 07, 2018, 01:10 PM IST

  • लेडी सिंघम को देखते ही छिप जाते हैं गुंडे, पकड़ चुकी हैं ईनामी डकैत को
    +7और स्लाइड देखें
    लेडी पुलिस अधिकारी श्रद्धासिंह पंवार झाबुआ जिले की सबसे बड़ी चौकी की प्रभारी हैं।

    इंदौर/झाबुआ।झाबुआ जिले का सारंगी क्षेत्र अवैध शराब परिवहन और चोरों का गढ़ माना जाता है। यहां आए दिन चोरी की घटना होना आम बात थी। इतनी वारदातों के बाद भी एसपी महेशचंद जैन ने इस चौकी की कमान एसआई श्रद्धा पंवार के हाथ में दी हैै। तेजतर्रार पंवार को लोग लेडी सिंघम के नाम से पुकारते हैं। महिला दिवस के मौके पर dainikbhaskar.com बता रहा है इस लेडी सिंघम के बारे में...

    - इंदौर की रहने वाली 28 साल की एसआई पंवार ने बताया कि उन्होंने एमबीए किया है। उनके पिता रामबहादुर सिंह परिहार पुलिस में थे। इसलिए घर का माहौल शुरू से ही पुलिसिया था। पढ़ाई के बाद टेलीकॉम कंपनी में ऑफिसर अभिषेक सिंह से उनकी शादी हो गई। उनका एक तीन साल का बेटा भी है।

    - उन्होंने बताया कि पिता ही पुलिस में थे इसलिए पुलिस के बारे में बहुत का जानती थी। शादी के बाद उन्होंने पुलिस में आने का मन बनाया और आवेदन भी किया। सिलेक्ट होने के बाद परिवार को टाइम नहीं दे पाने का सोचकर नौकरी ज्वाॅइन नहीं किया।

    - मेरी सासूमां प्रभा सिंह भी पुलिस में थीं, इसिलए उन्होंने मुझे प्रोत्साहित किया कि उन्हें नौकरी ज्वाॅइन करना चाहिए। सास और पति के कहने पर मैंने फिर से अप्लाय किया और मेरा सिलेक्शन हो गया। इसके बाद मैंने पुलिस की नौकरी ज्वॉइन कर ली।

    जिले में लेडी सिंघम के नाम से फेमस

    - वर्तमान में पंवार झाबुआ जिले की सबसे युवा और तेजतर्रार लेड़ी पुलिस अधिकारी के रूप में जानी जाती हैं। उनकी योग्यता और कार्यशैली को देखते हुए एसपी महेशचंद जैन ने उन्हें जिले की सबसे बड़ी पुलिस चौकी सारंगी का प्रभार सौंप रखा है। इस चौकी क्षेत्र में 80 से अधिक गांव जुड़े हैं और करीब 40 हजार आबादी है। सीमावर्ती धार जिले से लगी होने के कारण यहां चोरी की बहुत ज्यादा वारदातें होती थीं। इसके अलावा अवैध शराब का परिवहन भी बड़े पैमाने पर होता था। पवार के कमान संभालने के बाद इसमें काफी कमी आई है। चोरी रोकने और चोरों को रोकने के लिए पंवार ने एक स्पेशल प्लान तैयार किया है।

    - चोरी रोकने के लिए पंवार गांव और कस्बों का लगतार दौरा कर रही हैं। वे यहां लोगों के साथ मीटिंग करती हैं और चोरों तक किस प्रकार से पहुंचा जाय इसे लेकर प्लान बनाती हैं। उन्होंने गांव-गांव में अपने मुखबीर तैयार कर लिए हैं। पंवार ने शराब माफियाओं पर भी नकेल कसने में अहम भूमिका निभाई है।


    अब तक ये किया पंवार ने...
    - श्रद्धासिंह ने वर्ष 2014 से फरार साढ़े 12 हजार रुपए के ईनामी कुख्यात डकैत विजय उर्फ सेलसिंह उर्फ चेलसिंह उर्फ पाचिया पिता पारू मचार निवासी फुलेड़ी को पकड़ने में सफलता हासिल की।

    - इसके लिए उन्हें 26 जनवरी को पुरस्कृत करते हुए प्रशस्ति पत्र में भेंट किया गया। इसमें खासतौर से लिखा गया कि परीविक्षाधीन होने के बावजूद उन्होंने ईनामी अपराधियों को पकड़ने में अदम्स साहस का परिचय दिया।


    - इसके अलावा बरवेट में एक महिला के अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाई। आरोपी महिला का पति और बेटा निकला। इसके अलावा नाबालिग बच्चियों के अपरहण के कई केस सुलझाए। स्कूलों में जाकर छात्राओं को बहादुर बनने के साथ ही खुद को कैसे बचाएं और अपराधियों को सबक सिखाने के तरीके भी बताए।

  • लेडी सिंघम को देखते ही छिप जाते हैं गुंडे, पकड़ चुकी हैं ईनामी डकैत को
    +7और स्लाइड देखें
    अपने पति और बेटे के साथ पंवार।
  • लेडी सिंघम को देखते ही छिप जाते हैं गुंडे, पकड़ चुकी हैं ईनामी डकैत को
    +7और स्लाइड देखें
    उत्कृष्ट कार्य के लिए पंवार को सम्मानित किया गया था।
  • लेडी सिंघम को देखते ही छिप जाते हैं गुंडे, पकड़ चुकी हैं ईनामी डकैत को
    +7और स्लाइड देखें
    ट्रेनिंग के दौरान पंवार।
  • लेडी सिंघम को देखते ही छिप जाते हैं गुंडे, पकड़ चुकी हैं ईनामी डकैत को
    +7और स्लाइड देखें
    दूसरी बार में ज्वाॅइन की नौकारी।
  • लेडी सिंघम को देखते ही छिप जाते हैं गुंडे, पकड़ चुकी हैं ईनामी डकैत को
    +7और स्लाइड देखें
    पंवार काफी तेजतर्रार पुलिस अधिकारी हैं।
  • लेडी सिंघम को देखते ही छिप जाते हैं गुंडे, पकड़ चुकी हैं ईनामी डकैत को
    +7और स्लाइड देखें
    सब इंस्पेक्टर श्रद्धासिंह पंवार।
  • लेडी सिंघम को देखते ही छिप जाते हैं गुंडे, पकड़ चुकी हैं ईनामी डकैत को
    +7और स्लाइड देखें
    सब इंस्पेक्टर श्रद्धासिंह पंवार।
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Indore News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: These Are The Youngest And Flamboyant Women Sub-Inspectors Of Jhabua District.
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×