इंदौर

--Advertisement--

BNP के कई अफसर चप्पलों में पहुंचे ऑफिस, वेरिफिकेशन ब्रांच के 11 कर्मचारी सस्पेंड

देवास में बैंक नोट प्रेस (बीएनपी) में नोट चुराने के मामले में 11 कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया गया है।

Dainik Bhaskar

Jan 21, 2018, 07:07 AM IST
verification branch of several BNP office bearers

देवास (इंदौर) . देवास में बैंक नोट प्रेस (बीएनपी) में नोट चुराने के मामले में 11 कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया गया है, जबकि आरोपी मनोहर वर्मा को बर्खास्त किए जाने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है। मामले की जांच के लिए मुंबई से आए सीआईएसएफ के दल ने पूछताछ की। देवास पुलिस ने भी एसआईटी का गठन किया है। एएसपी अनिल पाटीदार को इसका प्रमुख बनाया गया है।

- शनिवार को बैंक नोट प्रेस प्रबंधन ने नोट वेरिफिकेशन ब्रांच के कर्मचारी दीपक मेलन, हरिओम शर्मा व राजमणि लोहार सहित 8 को ड्यूटी में लापरवाही बरतने पर सस्पेंड कर दिया।

- ये सभी उसी ब्रांच में थे, जहां डिप्टी कंट्रोलर मनोहर वर्मा को नोटों की गड्डी ले जाते समय सीआईएसएफ ने पकड़ा था। 20 जनवरी को विभिन्न शिफ्ट के अफसर चप्पल में दिखाई दिए।

- अभी जूतों को लेकर कोई फैसला नहीं हुआ है, लेकिन अफसरों ने स्वत: ही संज्ञान लेकर यह पहल की है।

पुलिस अभिरक्षा में पड़े हैं 90.5 लाख के जब्त नोट

- आरोपी डिप्टी कंट्रोलर के घर और दफ्तर से 90.5 लाख रुपए के जो नोट बरामद हुए हैं, वे शनिवार रात तक पुलिस कस्टडी में रहे। उनका सत्यापन नहीं हो सका कि ये नोट असली, नकली हैं, किस जगह छपे हैं। पुलिस का कहना है कि हमारी जांच के लिए यह सत्यापन रिपोर्ट बेहद जरूरी है लेकिन बीएनपी प्रबंधन ने नोट जांच के लिए नहीं लिए। बीएनपी टीआई उमरावसिंह ने कहा- नोटों का सत्यापन नहीं हो पाया है। तीनों सस्पेंड कर्मचारियों से भी पूछताछ की जाएगी। फिलहाल पूछताछ में आरोपी ने किसी अन्य की मिलीभगत का जिक्र नहीं किया है।

मुंबई से सीआईएसएफ जांच दल आया
शनिवार को सीआईएसएफ के हेडक्वार्टर मुंबई से डीआईजी और इंस्पेक्टर विजिलेंस देवास पहुंचे। दोनों ने आरोपी डिप्टी कंट्रोलर मनोहर वर्मा से पूछताछ की। बीएनपी महाप्रबंधक से भी चेकिंग व्यवस्था को लेकर चर्चा की। सुरक्षा को लेकर परिसर में प्रवेश पर सख्ती शुरू कर दी गई है।

X
verification branch of several BNP office bearers
Click to listen..