Hindi News »Madhya Pradesh News »Indore News »News» Wrestlers Burial Festivities, Women Reaching The Shoulder

101 साल के पहलवान की अनोखी शवयात्रा, अर्थी को कंधा देने पहुंची महिलाएं

Bhaskar News | Last Modified - Feb 08, 2018, 08:54 AM IST

शहर में एक पहलवान की डेथ पर उसकी अंतिम यात्रा निकाली गई। इस यात्रा को ऊंट- घोड़े, गाजे बाजे और अखाड़े के साथ निकाला गया।
  • 101 साल के पहलवान की अनोखी शवयात्रा, अर्थी को कंधा देने पहुंची महिलाएं
    +3और स्लाइड देखें
    अंतिम यात्रा में महिलाओं ने अर्थी को कंधा दिया।

    इंदौर.शहर में एक पहलवान की डेथ पर उसकी अंतिम यात्रा निकाली गई। इस यात्रा को ऊंट- घोड़े, गाजे बाजे और अखाड़े के साथ निकाला गया। इस दौरान भारी संख्या में महिलाएं भी शामिल हुईं। महिलाएं ने अर्थी को कंधा भी दिया। महिलाएं शवयात्रा के साथ कुछ दूरी तक पैदल भी चली। 101 साल के थे पहलवान..

    - दरअसल, साेनकर खटिक समाज के पूर्व अध्यक्ष और गणपत उस्ताद अखाड़ा के खलीफा 101 साल ताराचंद सोनकर का मंगलवार को निधन हो गया।

    - उनकी अंतिम यात्रा बुधवार सुबह 10 बजे राजमोहल्ला से निकली। ऊंट-घोड़े, गाजे-बाजे व अखाड़े के साथ निकली शवयात्रा में अंतिम विदाई देने के लिए समाज की महिलाएं भी शामिल हुईं।

    - महिलाएं करीब 200 मीटर शवयात्रा के साथ पैदल चलीं।

    - अंतिम यात्रा राजमोहल्ला, माणक चौक, फूल चौक, गोकुलगंज, टीचर्स कॉलोनी चौराहा, तांगा खाना, पीठ रोड होते हुए गुजरखेड़ा मुक्तिधाम पहुंची।

    15 साल समाज के अध्यक्ष रहे, समाज के गुरुद्वारा (गुरु मंदिर) के महंत थे
    - ताराचंद सोनकर 1995 से 2010 तक समाज के अध्यक्ष रहे। इसके अलावा वे राजमोहल्ला स्थित गुरुद्वारा के महंत रहने के साथ ही सेना की मेसन फील्ड के सेवानिवृत्त कर्मचारी थे।

    - वे गणपत उस्ताद अखाड़ा राजमोहल्ला के खलीफा भी थे। उस्ताद को अंतिम विदाई देने के लिए महू के साथ ही खंडवा, देवास, सनावद, बड़वाह और इंदौर से भी समाजबंधु शामिल हुए।

  • 101 साल के पहलवान की अनोखी शवयात्रा, अर्थी को कंधा देने पहुंची महिलाएं
    +3और स्लाइड देखें
    101 साल के ताराचंद सोनकर का मंगलवार को निधन हो गया।
  • 101 साल के पहलवान की अनोखी शवयात्रा, अर्थी को कंधा देने पहुंची महिलाएं
    +3और स्लाइड देखें
    ढोल नगाड़ों के साथ उनकी शव यात्रा निकाली गई।
  • 101 साल के पहलवान की अनोखी शवयात्रा, अर्थी को कंधा देने पहुंची महिलाएं
    +3और स्लाइड देखें
    अंतिम यात्रा में शामिल लोग।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Indore News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Wrestlers Burial Festivities, Women Reaching The Shoulder
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From News

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×