--Advertisement--

राणापुर : सुंदरकांड हुआ, मेला भी भराया

राणापुर : सुंदरकांड हुआ, मेला भी भराया तालाब किनारे छोटे हनुमान मंदिर के प्रांगण में हनुमान जन्मोत्सव की...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 02:10 AM IST
राणापुर : सुंदरकांड हुआ, मेला भी भराया
राणापुर : सुंदरकांड हुआ, मेला भी भराया

तालाब किनारे छोटे हनुमान मंदिर के प्रांगण में हनुमान जन्मोत्सव की पूर्व संध्या पर शुक्रवार रात्रि 8 से 10 बजे तक सुंदर कांड का आयोजन हुआ। आयोजन नगर की धर्म प्रेमी जनता के सहयोग से हुआ। पश्चात रात्रि जागरण हुआ। जिसमे हनुमान चालीसा का पाठ, भजन एवं प्रातः मंगला आरती के पश्चात विसर्जन किया गया। उधर, यहां से 5 किमी दूर ग्राम बन में हनुमान जयंती के अवसर पर मेला भराया। मेले में बड़ी संख्या में ग्रामीणों के साथ नगरवासी भी पहुंचे।

बरवेट : हनुमानजी का आकर्षक शृंगार किया

स्थानीय हनुमान मंदिर को आकर्षक रूप से सजाया गया। श्री हनुमान सरकार का चोला शृंगार किया। सुबह 5 बजे पं. उज्ज्वल त्रिवेदी ने पूजा अर्चना की। पश्चात प्रमुख जजमान ईश्वर पटेल ने आरती की। इस अवसर पर समाजसेवी रामेश्वर पाटीदार, दिनेश पटेल, जगदीश पटेल, दशरथ प्रजापत, जयंतीलाल पटेल, मोहन पटेल आदि मौजूद थे।

पिटोल : हनुमानगढ़ी पर मनाया जन्मोत्सव

एक किमी किलोमीटर दूर पहाड़ी पर बसे हनुमानगढ़ी पर पहले दिन गुरुवार को शाम 4 बजे हनुमानगढ़ से हनुमानजी की भव्य शोभायात्रा पीपलखूंटा के महंत दयारामदासजी महाराज के सान्निध्य में निकाली। शोभायात्रा नगर भ्रमण कर पुन: हनुमानगढ़ी पहुंची। इसके बाद आरती कर प्रसादी वितरण की गई। दूसरे दिन रात्री में ग्रामीणों के द्वारा भजन का आयोजन किया। शनिवार को सुबह 5.30 बजे मंगला आरती हुई जिसमें नगर के सभी लोगों ने हिस्सा लिया। पश्चात हवन पूजन कर मंदिर के शिखर पर ध्वजारोहण किया। दोपहर 12 बजे महाआरती के पश्चात भंडारा हुआ। जो शाम तक चलता रहा।

करड़ावद : हनुमानगढ़ी बारी पर हुई महाअारती

हनुमान गढ़ी बारी में हनुमान जयंती पर के उपलक्ष्य में एक कुंडीय यज्ञ किया गया। इस दौरान भक्तों ने सुंदरकांड की चौपाइयां पढ़कर यज्ञ की पूर्णाहुति की। दोपहर 12 बजे महाआरती की गई। सुबह से ही दर्शन के लिए भक्तों का तांता लगा रहा। मंदिर पर शुक्रवार से अखंड रामायण का पाठ भी किया गया।

पेटलावद : मंदिरों में हुए धार्मिक अनुष्ठान

हनुमान जयंती पर नगर के मंदिरो में धार्मिक अनुष्ठान हुए। कहीं छप्पन भोग लगा तो कहीं सामुहिक सुंदरकांड का पाठ किया गया। हवन पूजन, कन्याभोज और भंडारे का आयोजन प्रमुख हनुमान मंदिरो पर किया गया। आस्था का केंद्र मेला ग्राउंड स्थित खेड़ापति हुनमान मंदिर पर सुबह 3 बजे से ही हवन शुरू हुआ। हवन में नप अध्यक्ष मनोहर भटेवरा भी शामिल हुए। 11 बजे भगवान हुनमान की आरती उतारी गई। इसके बाद भंडारा हुआ। तारखेड़ी में भी दिनभर भक्तों की कतार लगी रही।

बामनिया : महाआरती हुई, फरियाली खिचड़ी बांटी

बामनिया में हनुमान मंदिरों में सुबह 5 बजे से ही श्रद्धालुओं की आवाजाही शुरू हो गई। मंशापूर्ण खेड़ापति हनुमान मंदिर, श्रीराम मंदिर और रामपुरिया के श्री पंचमुखी हनुमान मंदिर पर प्रातः सूर्योदय के पूर्व महाआरती की गई। खेड़ापति मंदिर पर महाप्रसादी के रूप में फरियाली खिचड़ी और लुगदी वितरित की गई। श्री पंचमुखी हनुमानजी मंदिर रामपुरिया में अमरगढ़ के कलाकारों द्वारा सुंदरकांड परायण किया गया। महाआरती के बाद यहां पंचकुंडीय यज्ञ अनुष्ठान हुए। भंडारा भी हुआ।

X
राणापुर : सुंदरकांड हुआ, मेला भी भराया
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..