--Advertisement--

भागवत सुनने से पाप नष्ट हो जाते हैं : प. नागर

भागवत सुनने से पाप नष्ट हो जाते हैं : प. नागर टोककलां | भागवत सुनने से सारे पाप नष्ट होते हैं, कलियुग में सिर्फ...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 03:10 AM IST
भागवत सुनने से पाप नष्ट हो जाते हैं : प. नागर

टोककलां | भागवत सुनने से सारे पाप नष्ट होते हैं, कलियुग में सिर्फ प्रभु नाम ही आधार है। प्रभु के नाम में शक्ति होती है। भक्त और भगवान दोनों का अटूट रिश्ता है। जिसे कोई नहीं तोड़ सकता। यह बात ग्राम गिरलाखेड़ी में आयोजित श्रीमद् भागवत कथा के समापन अवसर पर पं. राजेश्वर नागर ने कही। भागवत कथा के समापन के साथ हवन की पूर्णाहुति भी हुई। गांव में शोभायात्रा निकाली गई। महाआरती के बाद भंडारे का आयोजन हुआ। जिसमें ग्रामीणों ने प्रसाद ग्रहण किया। भागवत कथा में पूर्व सांसद सज्जन सिंह वर्मा भी पहुंचे और भागवत का पूजन किया।

‘मनुष्य मोह माया में उलटे काम करता है’

चापड़ा | ईश्वर ने मनुष्य जीवन अच्छे कर्म करने के लिए दी परंतु मनुष्य मोह माया के वशीभूत होकर उलटे काम करने लग जाता है और इसी का परिणाम है कि मनुष्य के पास सब कुछ होते हुए भी वह जिंदगीभर समस्याओं से जूझता रहता है। उक्त बात श्रीमद् भागवत के सातवें दिन नरेंद्र गुरुजी ने कही। आयोजक उमरावसिंह यादव ने कथा सुनने आई चापड़ा की 151 बेटियों को एक-एक साड़ी देकर सम्मान किया।