--Advertisement--

विभागीय योजनाओं की समीक्षा की

महिला एवं बाल विकास विभाग की बैठक हुई भास्कर संवाददाता | धार जिला पंचायत के सभाकक्ष में महिला एवं बाल विकास...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 04:30 AM IST
महिला एवं बाल विकास विभाग की बैठक हुई

भास्कर संवाददाता | धार

जिला पंचायत के सभाकक्ष में महिला एवं बाल विकास विभाग की बैठक हुई। संभागीय संयुक्त संचालक, एकीकृत बाल विकास सेवा, इन्दौर संभाग राजेश मेहरा ने विभागीय योजनाओं की समीक्षा की। जिला कार्यक्रम अधिकारी वीबी दामले, जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी भारती डांगी, सहायक संचालक सौदामिनी शिवहरे, मुख्य निर्देशक आंगनबाड़ी प्रशिक्षण केंद्र आईएस बुंदेला, समस्त परियोजना अधिकारी, खंड महिला सशक्तिकरण अधिकारी एवं पर्यवेक्षक उपस्थित थीं।

संयुक्त संचालक द्वारा लाडली लक्ष्मी योजना, पिंक लाइसेंस, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, पोषण स्तर का वर्गीकरण, स्व-प्रेरणा से चयनित आंगनबाड़ी केंद्रों के सेक्टरवार प्रदायित लक्ष्य एवं लक्ष्य के विरुद्ध वर्तमान तक प्राप्त उपलब्धि की समीक्षा की गई। योजनाओं में सर्वश्रेष्ठ उपलब्धि प्राप्त करने वाली पर्यवेक्षक मोनिका रावत, सेक्टर धामनोद, एकीकृत बाल विकास परियोजना धरमपुरी को सम्मानित किया गया। जिन पर्यवेक्षकों द्वारा उपलब्धि कम प्राप्त की गई उन्हें लक्ष्य को किस प्रकार से प्राप्त किया जा सकता है, इस संबंध में मार्गदर्शन दिया गया। ऐसी पर्यवेक्षक जो कार्य के प्रति उदासीन हैं एवं जिनकी उपलब्धि अत्यन्त कम है उनके विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए निर्देशित किया गया। परियोजना अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि सांझा चूल्हा कार्यक्रम अंतर्गत संचालित स्वसहायता समूहों के माध्यम से आंगनबाड़ी केंद्रों पर नियमित रूप से नाश्ता एवं भोजन का वितरण सुनिश्चित कराएं। कुपोषण कम करने के प्रयासों में तेजी लाई जाए।