--Advertisement--

भोपाल के शातिर ठग पर पुलिस ने बढ़ाई धाराएं

डीबी स्टार ने 26 फरवरी के अंक में उठाया था यह मामला। जमानत याचिका खारिज अब 13 मार्च तक पुलिस रिमांड पर इंदौर

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:05 AM IST
डीबी स्टार ने 26 फरवरी के अंक में उठाया था यह मामला।

जमानत याचिका खारिज अब 13 मार्च तक पुलिस रिमांड पर

इंदौर
सुबोध पंत ने कूटरचना कर विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर कई लोगों को ठगा था। इंदौर के 12 लोगों से 27 लाख रुपए ठगने के आरोप में पुलिस ने उसको 22 फरवरी को हिरासत में लिया। ठगी करने के लिए उसने जो फर्जी दस्तावेज बनाए वह भारतीय दंड संहिता की कई धाराओं के तहत अपराध हैं, लेकिन पुलिस ने उसे सिर्फ एक ही धारा (420) में समेट दिया था। डीबी स्टार ने 26 फरवरी के अंक में यह मुद्दा उठाया था। इसके बाद पुलिस हरकत में आई और सुबोध पर तीन धाराएं बढ़ा दी हैं।
यह धाराएं बढ़ाई हैं सुबोध पर

धारा-467: अपराध- धन प्राप्त करने के लिए कूट रचित दस्तावेज बनाना

सजा- आजीवन कारावास या दस साल कारावास और अर्थदंड

धारा-468: अपराध- छल के प्रयोजन से कूटरचना

सजा- सात साल कारावास और अर्थदंड

धारा- 471: अपराध- कूटरचित दस्तावेजों का छल के लिए प्रयोग करना

सजा- सात साल या अधिक का कारावास और अर्थदंड