--Advertisement--

युवक से पुलिस बोली- चोरी तो होती रहती है, सुबह आना

युवक सुबह गया तब भी एएसआई ने नहीं लिखी रिपोर्ट, डीआईजी से व सीएम हेल्पलाइन पर की शिकायत भास्कर संवाददाता| इंदौर...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 02:35 AM IST
युवक सुबह गया तब भी एएसआई ने नहीं लिखी रिपोर्ट, डीआईजी से व सीएम हेल्पलाइन पर की शिकायत

भास्कर संवाददाता| इंदौर

शहर में आपराधिक वारदात को पुलिस कितने हलके में लेती है, इसका एक उदाहरण सामने आया है। चोरी की रिपोर्ट लिखवाने एक युवक देर रात द्वारकापुरी थाने पहुंचा तो स्टाफ वहां सो रहा था। जगाने पर पुलिसकर्मियों ने सुबह आने का बोला। युवक सुबह फिर थाने पहुंचा तो एएसआई ने कहा तुम्हारे इलाके में चोर ही रहते हैं। चोरियां तो होंगी। तुम्हें खुद सतर्क रहना चाहिए। युवक ने रिपोर्ट लिखने को कहा तो उसे भगा दिया। युवक ने सीएम हेल्पलाइन पर इसकी शिकायत की है।

सनगौरव सिंह (28) पिता अशोक सिंह चौहान निवासी प्रजापत नगर ने बताया 28 फरवरी की रात उसके यहां चोर घुस गए और पांच हजार रुपए, तीन मोबाइल व अन्य कुछ सामान ले गए थे। उसने चोरों को भागते देखा और रात में ही पिता के साथ द्वारकापुरी थाने पहुंचा। वहां स्टाफ सो रहा था। उसने पुलिस जवानों को जगाया और चोरी होने की बात कही। इस पर जवान बोले कि चोरियां होती रहती हैं। सुबह आकर रिपोर्ट कर देना। अगले दिन 1 मार्च को वह सुबह थाने पहुंचा और एएसआई से शिकायत की। कार्रवाई करने के बजाय एएसआई कहने लगे कि तुम्हारा तो पूरा इलाका ही चोरों का है। 27 चोर तुम्हारे प्रजापत नगर में रहते हैं। हम कुछ नहीं कर सकते। तुम्हारे ही किसी ने चोरी कर ली होगी। गौरव ने कहा आप रिपोर्ट दर्ज कर जांच तो कीजिए, लेकिन उन्होंने रिपोर्ट तक नहीं लिखी। गौरव ने इसकी शिकायत डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र और सीएम हेल्पलाइन पर की है। डीआईजी ने जांच के बाद लापरवाह पुलिस जवानों पर कार्रवाई करने की बात कही है।

इधर टीआई बोले- रिपोर्ट के लिए मोबाइल के बिल ही नहीं दिए युवक ने, आरोप भी झूठे

द्वारकापुरी टीआई देवेंद्र कुमार का कहना है कि गौरव सिंह ने चोरी की शिकायत की थी। स्टाफ ने उससे मोबाइल के आईएमईआई नंबर जानने के लिए बिल मांगे तो वह गलत बोलने लगा। हालांकि उसने मुझसे शिकायत नहीं की। यदि बिल दे देता तो तुरंत रिपोर्ट लिखकर जांच करवा लेते। वह गलत आरोप लगा रहा है।