• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Indore News
  • News
  • 16 वर्षीय लड़की को दो युवकों ने धमकाया तो उसने केरोसिन डालकर खुद को जलाया
--Advertisement--

16 वर्षीय लड़की को दो युवकों ने धमकाया तो उसने केरोसिन डालकर खुद को जलाया

16 साल की लकड़ी ने दो लोगों की धमकी से डर शनिवार को केरोसिन डालकर आग लग ली। गंभीर हालत में उसे एमवाय अस्पताल में भर्ती...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 02:40 AM IST
16 साल की लकड़ी ने दो लोगों की धमकी से डर शनिवार को केरोसिन डालकर आग लग ली। गंभीर हालत में उसे एमवाय अस्पताल में भर्ती किया है। वह 81 प्रतिशत जल चुकी है। पुलिस बयान में उसने दो लोगों द्वारा धमकाने की बात कही है। पुलिस ने एक युवक को हिरासत में लिया है। जबकि दूसरे की तलाश की जा रही है। नवंबर 2017 में किशोरी की मां व बड़ी बहन ने एक युवक पर एसिड डालकर उसे जला दिया था। उसने ही अपने साथी के साथ मिलकर उसे धमकाया।

एरोड्रम टीआई आरडी कानवा ने बताया 16 साल की अंकिता पिता विक्रम निवासी रूप नगर ने खुद पर केरोसिन डालकर आग लगा ली। घटना के वक्त पिता घर के बाहर ही थे। बेटी की चीख सुनकर अंदर पहुंचे और पानी डालकर आग बुझाई। वे उसे लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। जहां से उसे एमवाय अस्पताल रैफर कर दिया। पुलिस ने अंकिता के बयान लिए तो उसने नंदराम और राधेश्याम द्वारा धमकाने की बात कही है। पुलिस ने राधेश्याम को पकड़ लिया है। वहीं नंदराम की तलाश जारी है।

पिता पर एसिड डालने की भी धमकी

किशोरी ने पुलिस को बताया नंदराम और राधेश्याम चार-पांच दिन पहले आए थे। उन्होंने किशोरी को धमकी दी कि उसने परिवार को जान से मार देंगे। फिर शुक्रवार को वे दोनों आए और कहा कि उसकी मां और बहन को जेल से बाहर नहीं आने देंगे और पिता पर एसिड फेंक देंगे। पिता ने कहा कि शनिवार को बेटी ने उन्हें ये बात कहीं तो उन्होंने दोनों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाने की बात कही थी। लेकिन वह इतनी डर चुकी थी कि उसने खुद पर केरोसिन डालकर आग लगा ली थी। पिता का कहना है कि नंदराम के कारण उन्होंने दो दिन पहले ही इंद्रा आवास योजना से रूप नगर में घर शिफ्ट किया था।

जेल में सजा काट रही मां व बहन

गांधी नगर टीआई आरएस शक्तावत ने बताया की 5 नंवबर 2017 को नंदराम पर जली किशोरी की मां व बड़ी बहन ने एसिड डाल दिया था। जबकि उसके पिता ने नंदराम की पिटाई कर दी थी। इस मामले में तीनों पर केस दर्ज कर गिरफ्तार किया था। घटना के बाद से मां व बड़ी बहन जेल में बंद है। जबकि पिता जेल से बाहर आ गया है।