विज्ञापन

शरीर के हर अंग केे लिए फायदेमंद है भुजंगासन

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:45 AM IST

News - सवाल : भुजंगासन करने के क्या लाभ हैं? िकन रोगों के इलाज में ये आसन करना मददगार होता है? - वंदन गुप्ता, भोपाल जवाब :...

शरीर के हर अंग केे लिए फायदेमंद है भुजंगासन
  • comment
सवाल : भुजंगासन करने के क्या लाभ हैं? िकन रोगों के इलाज में ये आसन करना मददगार होता है?

- वंदन गुप्ता, भोपाल

जवाब : भुजंगासन एक ऐसा योग आसन है जिसका फायदा सिर से लेकर पैर की अंगुलियों तक लगभग शरीर के सभी अंगों को मिलता है। इसे करने से रीढ़ की हड्‌डी लचीली होती है। पेट की चर्बी घटती है। कब्ज की समस्या से छुटकारा दिलाने में ये फायदेमंद है। कमर दर्द, अस्थमा, मधुमेह, थायराॅइड, स्त्रीरोग, स्लिप डिस्क और तनाव जैसी समस्याओं के इलाज में भुजंगासन बहुत लाभकारी है। इसे करने से पाचन तंत्र भी मजबूत होता है और शरीर भी सुडोल बना रहता है।



सवाल : सप्ताह में कितने दिन और दिन में कितने घंटे योग करना शरीर के लिए फायदेमंद होता है?

- रागिनी पंडित, इंदौर

जवाब : योग करने की कोई तय अवधि नहीं होती। ये शरीर की क्षमता और आवश्यकता पर निर्भर करता है। हालांकि कम से कम समय के लिए योग किया जाए तो भी इसका फायदा शरीर को जरूर होता है। ये संभव है कि इस फायदे की गति धीमी हो। यदि कोई व्यक्ति सप्ताह में कुल मिलाकर एक घंटा भी योग करता हैं तो यह भी उसके लिए बहुत फायदेमंद है। योग जितना ज्यादा से ज्यादा किया जाए इसका फायदा उतना ही बढ़ता जाता है। कुछ विशेषज्ञों की मानें तो सप्ताह में कम से कम तीन बार एक घंटे के लिए योग जरूर करना चाहिए। नियमित रूप से योग का 20 मिनट का करने से भी बराबर फायदा मिलता है।



सवाल : क्या योग करने के लिए शरीर का लचीला होना आवश्यक है?

- प्रफुल्ल पांचाल, ग्वालियर

जवाब : योगासन की शुरुआत के लिए शरीर का लचीला होना आवश्यक नहीं है। दरअसल, योगासन करने से शरीर में लचीलापन आता है और शरीर के लचीला होने के बाद ही कुछ कठिन योगासन किए जा सकते है। इसलिए शुरुआती दौर में योग के केवल सरल आसन ही करना चाहिए। जब शरीर में लचीलापन आ जाए उसके बाद ही कठिन योगासनों का अभ्यास करना चाहिए। योग करने के लिए केवल व्यक्ति का तन और मन तैयार होना चाहिए। इसके लिए किसी अन्य या विशेष प्रकार की तैयारी की आवश्यकता नहीं होती।

निकिता रसेला

Expert

X
शरीर के हर अंग केे लिए फायदेमंद है भुजंगासन
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन