• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Indore
  • News
  • रनों का रिकॉर्ड बनाकर चैम्पियन बना इंदौर, पूरी न हो सकी सीधी जीत की हसरत
--Advertisement--

रनों का रिकॉर्ड बनाकर चैम्पियन बना इंदौर, पूरी न हो सकी सीधी जीत की हसरत

News - इंदौर | महाराजा यशवंतराव अंतरसंभागीय क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल में होलकर स्टेडियम में पांच दिनों तक खूब रन...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 03:10 AM IST
रनों का रिकॉर्ड बनाकर चैम्पियन बना इंदौर, पूरी न हो सकी सीधी जीत की हसरत
इंदौर | महाराजा यशवंतराव अंतरसंभागीय क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल में होलकर स्टेडियम में पांच दिनों तक खूब रन बरसे, डिवीजन मैच में सर्वाधिक रनों का रिकॉर्ड भी इंदौर संभाग ने बना डाला। इंदौर ने पहली पारी में 629 और दूसरी पारी में 4 विकेट पर 1013 रनों का कीर्तिमान रच दिया। उज्जैन को जीतने के लिए 1567 रनों का लक्ष्य भी दिया। बावजूद इसके उसकी उज्जैन पर सीधी जीत हासिल करने की हसरत पूरी नहीं हो सकी।

मैच के आखिरी दिन शनिवार को उज्जैन की टीम ने भारी भरकम लक्ष्य का पीछा करते 6 विकेट पर 253 रन बनाए और अंतत: दोनों टीमों के कप्तानों की रजामंदी के बाद अंपायरों ने मैच ड्रॉ घोषित कर दिया। इंदौर संभाग को पहली पारी की 553 रनों की बढ़त के आधार पर विजेता घोषित किया गया। शनिवार को उज्जैन के आशुतोष शर्मा (115) का शतक और अजय रोहिरा की 61 रनों की पारी तथा इंदौर के गेंदबाज सुरेंद्र मालवीय (3 विकेट) और गौरव यादव ( 2 विकेट) खेल का आकर्षण रहे।

अंतिम दिन केवल चार विकेट गिरे

उज्जैन संभाग ने चौथे दिन के स्कोर 2 विकेट पर 29 से आगे खेलना शुरू किया और उसने अपने स्कोर में 224 रनों का इजाफा किया। पहली पारी में उज्जैन को सस्ते में आउट करने वाले इंदौर के गेंदबाज पांचवें दिन विरोधी टीम के केवल 4 ही बल्लेबाजों को आउट कर सके। आशुतोष ने एक छोर संभाले रखा और धीरे-धीरे स्कोर को बढ़ाया। सुरेंद्र ने सतीश को आउट कर उज्जैन को तीसरा झटका दिया। इसके बाद अजय रोहिरा ने आशुतोष का अच्छा साथ दिया। लंच के समय उज्जैन का स्कोर 3 विकेट पर 157 रन था। आशुतोष शर्मा ने 123 गेंदों का सामना करते हुए 18 चौकों और 3 छक्कों की मदद से 115 रन बनाए। अजय रोहिरा ने 96 गेंदों पर 8 चौके लगाते हुए 61 रनों की पारी खेली। दोनों ने चौथे विकेट के लिए 119 रन की साझेदारी की। कप्तान सारांश जैन ने आशुतोष को बोल्ड कर इस साझेदारी को तोड़ा। इसके बाद उज्जैन के दो विकेट और गिरे। चायकाल पर उज्जैन का स्कोर 6 विकेट पर 253 रन था, तब अंपायरों ने मैच ड्रॉ घोषित किया। विजेता टीम को रणजी चीफ सिलेक्टर कीर्ति पटेल, एमपीसीए के संयुक्त सचिव संदीप मुंगरे आैर पंकज पांडे ने ट्रॉफी प्रदान की। इस माैके पर आईडीसीए सचिव अमिताभ विजयवर्गीय, पूर्व क्रिकेटर देवाशीष निलोसे भी मौजूद थे। आईडीसीए के अध्यक्ष कैलाश विजयवर्गीय ने स्टेडियम पहुंचकर इंदौर संभाग के खिलाड़ियों की हौसलाअफजाई कर मिठाई खिलाई आैर किट देने की घोषणा की।

संक्षिप्त स्कोर : इंदौर संभाग : 629 और 1013 रन। उज्जैन संभाग : 76 और 6 विकेट पर 253 रन (आशुतोष शर्मा 115, अजय रोहिरा 61 रन, सुरेंद्र मालवीय तीन और गौरव यादव 2 विकेट)।

अतिथियों के साथ विजेता टीम के खिलाड़ी।

X
रनों का रिकॉर्ड बनाकर चैम्पियन बना इंदौर, पूरी न हो सकी सीधी जीत की हसरत
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..