--Advertisement--

इनकी तत्परता आई काम, मलबे से बचा लाए जिंदगी

इंदौर | एमएस होटल हादसे में 10 लोगों ने जान गंवाई। जब हादसा हुआ तो चारों ओर अफरातफरी मच गई। लोग बदहवास भागने लगे। हर...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 03:30 AM IST
इंदौर | एमएस होटल हादसे में 10 लोगों ने जान गंवाई। जब हादसा हुआ तो चारों ओर अफरातफरी मच गई। लोग बदहवास भागने लगे। हर कोई खुद को बचाने में लगा था, लेकिन इन विषम परिस्थितियों में भी शहर के कुछ ऐसे हीरो सामने आए, जिनकी तत्परता और जज्बे ने कई लोगों की जान बचाई।

कोशिश यही थी कि ज्यादा से ज्यादा को जीवित बचा लें

विशाल चतुर्वेदी ने बताया मैं दोस्त के बुलावे पर भंडारे में शामिल होने 8.30 बजे सरवटे बस स्टैंड पहुंचा था। 8 बजकर 48 मिनट पर हम कॉर्नर पर चाय पी रहे थे तभी शॉर्ट सर्किट हुए और धुएं का गुबार उठ आया। जैसे ही हमने देखा होटल गिर गई है तो हम तत्काल मौके पर पहुंचे। मेरे साथ दोस्त कपिल और नितिन थे। हम मोबाइल की टॉर्च चालू कर मलबे पर चढ़ गए और पत्थर हटाने शुरू कर दिए। हमने एक रिक्शा चालक को पुलिसकर्मियों की मदद से मलबे से निकाला। इसके बाद कई और लोगों के दबने की जानकारी मिली तो मलबा हटाने में जुट गए। बस कोशिश यही थी कि ज्यादा से ज्यादा को जीवित बचा लें।

विशाल

कपिल

कार, दो ऑटो रिक्शा में दबे लोगों को पतरे व एंगल उठाकर निकाला