Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» जेईई मेन 8 को, मॉक टेस्ट से तैयारी कम करेगी एग्ज़ाम फोबिया

जेईई मेन 8 को, मॉक टेस्ट से तैयारी कम करेगी एग्ज़ाम फोबिया

देश के बेस्ट टेक्निकल इंस्टिट्यूट्स में एडमिशन के लिए होने वाल जॉइंट एंट्रेंस टेस्ट (जेईई) में महज़ 6 दिन शेष हैं।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 03:30 AM IST

देश के बेस्ट टेक्निकल इंस्टिट्यूट्स में एडमिशन के लिए होने वाल जॉइंट एंट्रेंस टेस्ट (जेईई) में महज़ 6 दिन शेष हैं। एक्सपर्ट्स के मुताबिक जेईई देने वाले स्टूडेंट्स के लिए यह वक्त सबसे ज्यादा स्ट्रेसफुल होता है जबकि इसी समय उन्हें तनाव से दूर रहने की ज़रूरत है। कई स्टूडेंट्स हैं जो बेहतर तैयारी होने के बाद भी मॉक टेस्ट में स्कोर नहीं कर पा रहे हैं। एक्सपर्ट्स की बात मानें तो आखिरी कुछ दिनों में मॉक टेस्ट ही वो तरीका है जो स्टूडेंट्स का मॉरल बूस्ट कर सकता है।

एक्सपर्ट विजित जैन बताते हैं- बच्चे अक्सर कहते हैं "सर मेरी तैयारी तो अच्छी है लेकिन डर लग रहा है कि एग्ज़ाम में परफॉर्म नहीं कर पाऊंगा। मॉक टेस्ट में स्कोर बेहतर नहीं आ रहा जबकि सारे टॉपिक्स ठीक से तैयार किए हुए हैं। ये वो सवाल हैं जो स्टूडेंट्स पूछ रहे हैं जिससे एग्ज़ाम के प्रति उनकी घबराहट नज़र आती है। जबकि वास्तविकता यह है कि उनकी पढ़ाई तो पूरी है लेकिन वे प्रेशर हैंडल नहीं कर पा रहे हैं। इसलिए स्टूडेंट्स को इन दिनों में ज्यादा से ज्यादा मॉक टेस्ट देने चाहिए। इससे उन्हें टाइम लिमिट में जवाब देने की प्रैक्टिस होगी। इसके अलावा वीक पॉइंट्स और टॉपिक्स की जानकारी भी मिलेगी। कमज़ोर टॉपिक्स की तैयारी से मॉरल बूस्ट होगा।

एक्सपर्ट अतिल अरोरा के मुताबिक "चूंकि जेईई मेन के लिए समय कम बचा है इसलिए रोज़ पढ़ाई तो ज़रूरी है लेकिन स्टूडेंट्स को इसका प्रेशर अपने ऊपर नहीं लेना चाहिए। इससे बचने के लिए हर दिन 15 मिनट का रिलेक्सेशन टाइम निकालना चाहिए। इसमें ऐसी एक्टिविटी करें जो आपको सुकून दे। पढ़ाई के दौरान टॉपिक्स भी बदलते रहें। एक ही विषय को लगातार लंबे समय तक नहीं पढ़ें।

इन बातों का रखें ध्यान

नए टॉपिक्स न पढ़ें

हर टॉपिक के अपने बनाए नोट्स को रिवाइज़ करें

पिछले सालों के पेपर टॉपिक वाइज़ सॉल्व करें

हर दिन 10-12 मॉक टेस्ट दें

कम से कम 10 घंटे इफेक्टिव स्टडी करें

मेडिटेशन भी सहायता करेगा

देर रात तक पढ़ाई अवॉइड करें

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×