• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Indore News
  • News
  • आईआईएम एलुमनाईज़ का स्टार्टअप स्टूडेंट्स का एजुकेशन फील्ड में नेटवर्क बढ़ाएगा
--Advertisement--

आईआईएम एलुमनाईज़ का स्टार्टअप स्टूडेंट्स का एजुकेशन फील्ड में नेटवर्क बढ़ाएगा

सोशल मीडिया पर आने वाले ढेरों मैसेजेस में 90 फीसदी काम के नहीं होते। सही चीजों के लिए इसका उपयोग शायद नहीं होता।...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 03:30 AM IST
सोशल मीडिया पर आने वाले ढेरों मैसेजेस में 90 फीसदी काम के नहीं होते। सही चीजों के लिए इसका उपयोग शायद नहीं होता। वहीं दूसरी ओर ऐसे भी स्टूडेंट्स हैं जिनके पास एजुकेशनल इंस्टिट्यूट्स की लेटेस्ट और वेरिफाइड इंफरमेशन नहीं पहुंच पाती। यहां तक की कई स्टूडेंट्स को एडमिशन फॉर्म भरने में भी परेशानी आती है। इंटरनेट पर सही सोर्स तक नहीं पहुंच पाने के कारण वे अनजान लोगों द्वारा दी गई गलत जानकारी को भी सही मानकर अपना नुकसान करवा बैठते हैं। ये बातें महज़ कहने के लिए नहीं बल्कि 30 से ज्यादा सेमिनार में 10हज़ार स्टूडेंट्स से बात करने के बाद हमें समझ आई है। स्टूडेंट्स तक हम सही जानकारी पहुंचा सकें इसलिए हमने एक स्टार्टअप शुरू किया है जिसमें सोशल मीडिया का भी उपयोग करेंगे। नाम है क्रिगर्स कैम्पस। वेबसाइट, एप, ट्विटर हैंडल और फेसबुक पेज भी है इसका।

यह कहना है क्रिगर कैम्पस के फाउंडर्स सूरज सत्यार्थी, चंदन सत्यार्थी और नीरज वर्मा का। सूरज आईआईएम इंदौर पासआउट हैं। इनके मुताबिक क्रिगर कैंपस का मकसद देश को 100 फीसदी साक्षर बनाना है।

एजुकेशन से जुड़ा कोई भी व्यक्ति हो सकता है शामिल

सूरज ने बताया क्रिगर कैम्पस की शुरुआत 2017 में वीकेंड प्रोजेक्ट की तरह हुई थी। हमने 30 सेमिनार किए और 10 हज़ार स्टूडेंट्स से बात की। हमें पता लगा कि कई स्टूडेंट्स गलत एकेडमिक डिसीज़न्स के कारण वो नहीं कर पाए जो करना चाहते थे। रिसर्च में यह बात भी सामने आई कि लोग सोशल मीडिया का उपयोग तो करते हैं लेकिन आपस में नहीं जुड़ पाते। हमने उन्हें जोड़ने का प्लेटफॉर्म तैयार किया है। जो भी व्यक्ति शिक्षा के क्षेत्र से जुड़ा है वो क्रिगर कैम्पस पर अपने आप को फ्री रजिस्टर करने के साथ स्टूडेंट्स, टीचर्स, स्कूल, कॉलेज और इंस्टिट्यूट्स के साथ जुड़कर अपना नेटवर्क बढ़ा सकता है।

स्टूडेंट्स के सवालों के जवाब देंगे एक्सपर्ट्स

इस प्लेटफॉर्म पर रजिस्टर करने बाद स्टूडेंट्स एजुकेशन से जुड़े सवाल पूछ सकेंगे। पोर्टल पर मौजूद एक्सपर्ट्स उनके जवाब देंगे। एग्ज़ाम डेट्स, कैसे अप्लाय कर सकते हैं, तैयारी और इंटरव्यू टिप्स भी उपलब्ध कराएंगे हम। स्टूडेंट्स की लोकेशन के अनुसार उनके आस-पास मौजूद एक्सपर्ट्स की जानकारी भी देंगे।