Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» मंच पर हम अपनी कहानियां सुनाते हैं

मंच पर हम अपनी कहानियां सुनाते हैं

फिल्म, टीवी, रेडियो और सॉन्ग राइटिंग सहित सात अलग-अलग फील्ड में काम कर चुके रोशन अब्बास कहते हैं - प्रोफेशन में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 03:30 AM IST

मंच पर हम अपनी कहानियां सुनाते हैं
फिल्म, टीवी, रेडियो और सॉन्ग राइटिंग सहित सात अलग-अलग फील्ड में काम कर चुके रोशन अब्बास कहते हैं - प्रोफेशन में एकरसता आना बड़ी परेशानी है। 30 साल तक मीडिया की अलग-अलग इंडस्ट्रीज में काम करने के बाद मेरे जीवन में भी ऐसा ही कुछ हुआ। जुमले सुनाता तो जुमले खत्म, कुछ और करने के लिए बचा नहीं। समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूं। उस वक्त यही इंस्पिरेशन थी कि उसी काम को कैसे अलग अंदाज में करें। अब क्रिएटिव लोगों के पास नेटवर्क नहीं होता। दूसरा वे कॉम्प्रामाइज़ आयानी से नहीं कर पाते हैं। मुझे ये सब आता था क्योंकि मेरी एक इवेंट कंपनी है। यहीं से मुझे कम्यून का विचार आया। बोले- मैंने एक कॉन्सेप्ट देखा जहां लोग मंच पर आकर अपनी कहानियां सुनाते थे। हमने सोचा यही किया जाए। पर कहानी सुनाने के लिए सिर्फ पांच मिनट दिए। मुंबई में बिजी लोगों को यह कॉन्सेप्ट पसंद आया। लोग हमें फ्री में जगह देने लगे। दो हफ्ते बाद गौरव कपूर ने मुझे कहा- हम इतनी मेहनत कर रहे हैं क्यों न इन्हें इंटरनेट पर डाल दें। आज हमारे 10.6 मिलियन फॉलोअर्स हैं।

जलेबी और केसर की चाय ने बदली मेरी ज़िंदगी

टेस जोसेफ ने बताया - जब हम स्कूल में थे तो प्रोजेक्ट- ईच वन टीच वन के अंतर्गत हमें अंडरप्रिविलेज्ड बच्चों को पढ़ाना होता था। मेरे पास सनी की जिम्मेदारी थी जो मुझसे पांच साल छोटा था। पढ़ाई खत्म होने के बाद मैं काम करने लगी। एक बार पता नहीं क्या हुआ मेरे बॉस ने मुझे डांट दिया और मुझसे जॉब से बाहर करने की बात की। मैं डर गई। 7 किलोमीटर ऑफिस से चलकर जब घर आ रही थी, तो रेलवे ट्रैक पर बैठ गई। वहीं सनी आ गया। बोला- दीदी क्या हुआ। मैंने कहा- कुछ नहीं, तुम जाओ। कुछ देर बाद वो मेरे लिए केसर की चाय और जलेबी लाया। बस वो मेरी जिंदगी का टर्निंग पॉइंट था। चाय और जलेबी के साथ वो लम्हा गुज़र गया और मुझे अहसास हुआ कि फेल्योर जैसा कुछ नहीं होता।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×