--Advertisement--

देखी न गईं मध्यम वर्ग की ये खुशियां खाना, गाड़ी चलाना सजना-संवरना भी महंगा

एलईडी, डेकोरेटिव लाइट्स जैसे उत्पादों को विलासिता श्रेणी में लाने से इनके भाव बढ़ेंगे। भास्कर एक्सपर्ट पैनल :...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 03:35 AM IST
एलईडी, डेकोरेटिव लाइट्स जैसे उत्पादों को विलासिता श्रेणी में लाने से इनके भाव बढ़ेंगे।

भास्कर एक्सपर्ट पैनल : जितेंद्र रामनानी इलेक्ट्रिकल मर्चेंट एसो., प्रवीण पटेल ऑटोमोबाइल एसो. , डॉ. आरके शर्मा वरिष्ठ नागरिक परामर्श संघ, आरती मीणा जिला आपूर्ति नियंत्रक व राजेंद्र दम्मानी ऑइल मर्चेंट एसो.।

घर

इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए 1 लाख करोड़ बढ़ाए हैं। अमृत, हाउसिंग फॉर ऑल प्रोजेक्ट में फंडिंग आसान होगी।

बचत

एफडी व आरडी पर ब्याज छूट 50,000 सालाना कर देने से इंदौर के दो लाख सीनियर सिटीजन को फायदा मिलेगा।

रियल एस्टेट

रियल एस्टेट में बाजार भाव और गाइड लाइन का अंतर 5 प्रतिशत तक मान्य कर दिया। इससे बाजार के सौदों में राहत मिलेगी।

कॉस्मेटिक

कॉस्मेटिक और सौंदर्य प्रसाधन से जुड़ी सामग्री पर 5% कस्टम ड्यूटी बढ़ा देने से आम आदमी पर बोझ बढ़ेगा।

कार-बाइक

आयात शुल्क बढ़ाने से कंपनियां देश में पुर्जे बढ़ाएंगी। इससे लग्जरी कार छोड़ बाकी पर लोगों को राहत मिलेगी।

मोबाइल

विलासिता श्रेणी में आने से मोबाइल, इलेक्ट्रॉनिक्स गेम में भी रेट बढ़ेंगे। 36 % कस्टम ड्यूटी का भार लोगों पर।

बिजली

आम बजट में घोषणा के बाद सौभाग्य योजना में 5 लाख परिवारों को मुफ्त में बिजली कनेक्शन मिल सकेंगे।

खानपान

सोयाबीन, कनौला, सनफ्लॉवर ऑइल पर सेस ड्यूटी बढ़ा दी है। इससे 1 रुपए प्रति किलो की तेजी आ जाएगी।

शहर के एक शॉपिंग मॉल के एंट्रेंस में दीवार पर बनी यह ग्रैफिटी जो मिडिल क्लास की उन छोटी-छोटी खुशियों का प्रतीक है जिनकी वह उम्मीद करता है। जिनके लिए घर का मुखिया परिवार के चेहरे पर मुस्कान लाने में जुटा रहता है।

फोटो : ओपी सोना

पेट्रोल-डीजल

एक्साइज ड्यूटी कम की और सेस बढ़ा दिया। जिले के साढ़े 12 लाख वाहन चालकों को मिलने वाली राहत खत्म।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..