Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» सहकारिता विभाग ने जिला कोर्ट से मांगा देवी अहिल्या संस्था के सदस्यों का रिकाॅर्ड

सहकारिता विभाग ने जिला कोर्ट से मांगा देवी अहिल्या संस्था के सदस्यों का रिकाॅर्ड

जमीन घोटाले के लिए चर्चित देवी अहिल्या श्रमिक कामगार गृह निर्माण सहकारी संस्था के चुनाव की प्रक्रिया एक बार फिर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 03:35 AM IST

जमीन घोटाले के लिए चर्चित देवी अहिल्या श्रमिक कामगार गृह निर्माण सहकारी संस्था के चुनाव की प्रक्रिया एक बार फिर टल गई। संस्था की जमीन गलत तरीके से बेचे जाने के बाद संस्था के कर्ताधर्ता सहित 29 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद संस्था का रिकाॅर्ड जिला अदालत में जब्त है। संस्था के प्रशासक ने अब सदस्यों के रिकाॅर्ड की सत्यापित कॉपी के लिए जिला अदालत में आवेदन लगाया है।

अहिल्यापुरी की जमीन गलत तरीके से बेची गई थी

संस्था ने अहिल्यापुरी सहित कई कॉलोनियां विकसित की हैं। इनमें अहिल्यापुरी की जमीन गलत तरीके से बेची गई थी। जांच के बाद पुलिस ने वर्ष 2009 में 29 आरोपियों के खिलाफ आपराधिक केस दर्ज किए थे। उसके बाद संस्था का संचालक मंडल भंग कर उस पर सहकारिता विभाग का प्रशासक बैठाया गया, तब से संस्था प्रशासकों के भरोसे है। आपराधिक केस जिला अदालत में विचाराधीन है। जांच के दौरान पुलिस ने संस्था का रिकाॅर्ड जब्त किया था, जिसमें सदस्यों की सूची भी शामिल है।

5822 सदस्य, अफसरों ने दी 5890 की लिस्ट

उधर संस्था के ऑडिट में 5 हजार 822 सदस्य मिले थे, लेकिन चुनाव के लिए सहकारिता विभाग के पूर्व अफसरों ने 5 हजार 890 सदस्यों की सूची दे दी। संख्या की गफलत के चलते सहकारिता विभाग ने संस्था को चुनाव का प्रस्ताव राज्य सहकारिता निर्वाचन प्राधिकारी कार्यालय भोपाल को भेजा था। गड़बड़ियों के चलते राज्य निर्वाचन प्राधिकारी प्रभात पाराशर संस्था ने चुनाव सहकारिता विभाग के अफसरों से कराने के बजाय जिला प्रशासन से कराने के निर्देश दिए थे। उन्होंने चुनाव की कमान सौंपते हुए अपर कलेक्टर को अपील व एक तहसीलदार को रजिस्ट्रीकरण अधिकारी नियुक्त किया था, किंतु दो दिन पहले निर्वाचन की प्रक्रिया शुरू होते ही सदस्यों की संख्या की गफलत के चलते चुनाव प्रक्रिया टाल दी गई। राज्य निर्वाचन प्राधिकारी पाराशर ने ‘भास्कर’ को बताया कि संस्था के चुनाव टालने की सूचना उन्हें मिली है। कुछ बिंदुओं पर जांच के बाद दोबारा चुनाव कार्यक्रम घोषित किया जाएगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×