• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Indore
  • News
  • चार हजार से ज्यादा साधकों ने किया एक करोड़ आठ लाख नवकार महामंत्र का जाप
--Advertisement--

चार हजार से ज्यादा साधकों ने किया एक करोड़ आठ लाख नवकार महामंत्र का जाप

News - मालव भूषण आचार्य नवर|सागर सूरीश्वर के 75वें जन्मोत्सव पर वीआईपी रोड स्थित दलालबाग पर बुधवार से पांच दिनी हीरक...

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 04:40 AM IST
चार हजार से ज्यादा साधकों ने किया एक करोड़ आठ लाख नवकार महामंत्र का जाप
मालव भूषण आचार्य नवर|सागर सूरीश्वर के 75वें जन्मोत्सव पर वीआईपी रोड स्थित दलालबाग पर बुधवार से पांच दिनी हीरक जयंती महोत्सव शुरू हुअा। गच्छाधिपति आचार्य दौलतसागर सूरीश्वर, आचार्य नंदीवर्धनसागर, आचार्य हर्षसागर महाराज और आचार्य विश्वर|सागर महाराज सहित तीन सौ से ज्यादा साधु-साध्वियों की उपस्थिति में महोत्सव के पहले दिन नवकार महामंत्र के एक करोड़ आठ लाख जाप हुए। इसके अलावा आयंबिल, सामूहिक सामायिक सहित अनुष्ठान हुए। यह आयोजन गुरु नवर| जन्मोत्सव आयोजन समिति, जैन श्वेतांबर मालवा महासंघ, समग्र जैन श्रीसंघ एवं नवर| परिवार के तत्वावधान में हुआ।

महोत्सव समिति के प्रीतेश ओस्तवाल, दिलसुख राज कटारिया ने बताया दलालबाग में मंच पर जैनाचार्यों सहित 21 साधु-साध्वी विराजमान थे, जबकि करीब तीन सौ साधु-साध्वी भी मंच के नीचे विराजित थे। पहले दिन सामूहिक नवकार महामंत्र के एक करोड़ आठ लाख जाप, आयंबिल एवं समूह सामायिक के संगीतमय अनुष्ठान में करीब पांच हजार साधक उपस्थित थे। अहमदाबाद के निकुंज गुरु के निर्देशन में लगभग तीन घंटे तक एकासन पर बैठकर नवकार महामंत्र की जाप आराधना की।

दलालबाग में आयोजित पांच दिनी हीरक जयंती महोत्सव में साधु-साध्वियों की मौजूदगी में हुआ नवकार महामंत्र का जाप।

आज होगा शक्रस्तव महाअनुष्ठान, बेंगलुरु के जीवन प्रबंधन गुरु करेंगे संबोधित

महोत्सव में गुरुवार को परमात्मा के 273 विशेषणों से युक्त शक्रस्तव महाअनुष्ठान शहर में पहली बार सुबह 9.30 बजे से नासिक के श्रीपाल राजा के निर्देशन में होगा। शाम 7.30 बजे बेंगलुरु के जीवन प्रबंधन गुरु राहुल कपूर किशोर एवं युवाओं को गुरु व माता-पिता के चरण स्पर्श करने एवं अन्य संस्कारों पर प्रेरक उद्‌बोधन देंगे। समारोह में पर सकल श्रीसंघ की ओर से चंदनमल चौरड़िया, डॉ. प्रकाश बांगानी सहित शहर के सभी श्रीसंघों के प्रतिनिधि एवं पदाधिकारी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

इंजन की नाव से नदी पार करने पर आचार्य विश्वर|सागरजी महाराज ने महोत्सव के दौरान सार्वजनिक रूप से क्षमा मांगी।

X
चार हजार से ज्यादा साधकों ने किया एक करोड़ आठ लाख नवकार महामंत्र का जाप
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..