Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» ह्यूमन मिल्क बैंक के लिए स्वास्थ्य विभाग तलाश रहा 17 सौ वर्गफीट जगह

ह्यूमन मिल्क बैंक के लिए स्वास्थ्य विभाग तलाश रहा 17 सौ वर्गफीट जगह

इंदौर और भोपाल में ह्यूमन मिल्क बैंक बनाने को लेकर प्रदेश सरकार तैयारी कर रही है। स्वास्थ्य विभाग इस बार फिर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 01, 2018, 04:40 AM IST

इंदौर और भोपाल में ह्यूमन मिल्क बैंक बनाने को लेकर प्रदेश सरकार तैयारी कर रही है। स्वास्थ्य विभाग इस बार फिर मेडिकल कॉलेज के ही भरोसे है। विभाग केे पास खुद का अस्पताल नहीं है जहां इसे शुरू किया जा सके, इसलिए एमजीएम मेडिकल कॉलेज के अधीन एमटीएच महिला अस्पताल पर नजर है, जबकि यहां के अधिकारी चाहते हैं कि यह नई सुविधा स्वास्थ्य विभाग के नवनिर्मित पीसी सेठी अस्पताल में भी शुरू की जाए।

हैदराबाद की कार्यशाला से लौटने के बाद डॉ. नायक 17 सौ वर्गफीट जगह तलाश रहे हैं। भोपाल से डिप्टी डायरेक्टर ने इसके लिए एमटीएच को उपयुक्त माना था। अभी यह अस्पताल निर्माणाधीन है, लेकिन स्वास्थ्य विभाग यहीं ह्यूमन मिल्क बैंक बनाना चाहता है। गौरतलब है कि एनआरएचएम की मदद से ही एमवाय अस्पताल में एसएनसीयू स्थापित किया गया है। दरअसल हर जिले में जिला अस्पतालों में इसे स्थापित किया गया है लेकिन इंदौर में खुद स्वास्थ्य विभाग चाहता था कि मेडिकल कॉलेज में यह सुविधा शुरू हो। इसलिए एसएनसीयू उनके हिस्से चला गया।

दूध स्टोर करने के लिए जुटाएंगे सुविधाएं

दूध इकट्‌ठा करने के लिए कोल्ड स्टोरेज, विशेष कुर्सियां, ब्रेस्ट मिल्क पंप, इन्वर्टर, एसी जैसी सुविधा जुटाई जाती हैं। इसमें तापमान मेंटेनेंस करने से लेकर संक्रमण का ध्यान रखना पड़ता है। कई प्रकार की महंगी मशीनें खरीदी जाना हैं। शुरू में खुद के बच्चे के लिए ही मां का दूध सुरक्षित रखा जाएगा। इसके लिए सभी के लिए यह मिल्क बैंक काम करेगा।

परीक्षण के बाद ही लिया जाएगा दूध

दूध लेने के पूर्व महिलाओं में एचआईवी, हेपेटाइटिस बी या सी, टीबी या सिफलिस जैसे संक्रमण की भी जांच की जाएगी। प्री-मैच्योर बच्चे, कम वजनी, चार सप्ताह से कम उम्र के नवजात, मां को कोई बीमारी होने पर, गोद लिए बच्चे या फिर छोड़े हुए बच्चों के लिए यह उपयोगी है। रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी, पौष्टिक तत्वों की मौजूदगी होने से बच्चे के विकास में मां का दूध कारगर माना जाता है।

भोपाल के अधिकारी भी हैदराबाद गए थे। प्रस्ताव भोपाल से ही मिलना है। कुछ दिन पूर्व एमवायएच अधीक्षक डॉ. वी.एस. पाल से मुलाकात की थी। एमवायएच में शुरू करना चाहते थे, लेकिन उन्होंने बताया कि स्त्री एवं प्रसूति रोग विभाग एमटीएच में शिफ्ट हो रहा है। इसलिए एमटीएच में इसे बनाया जाएगा। - डॉ. एचएन नायक, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी

मुझे इस बारेे में जानकारी नहीं है। एमटीएच अस्पताल में इसके लिए कोई प्लानिंग भी नहीं की गई है। सीएमएचओ से भी इस बारे में हमसे कोई संपर्क नहीं हुआ है। उनके अधीन एक बड़ा अस्पताल बनकर तैयार है। वहां भी इसे शुरू किया जा सकता है। - डॉ. शरद थोरा, डीन एमजीएम मेडिकल कॉलेज

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Indore News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: ह्यूमन मिल्क बैंक के लिए स्वास्थ्य विभाग तलाश रहा 17 सौ वर्गफीट जगह
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×