Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» ईओजीएम के फैसले पर यशवंत क्लब में सदस्यता देने पर जिला कोर्ट ने लगाई रोक

ईओजीएम के फैसले पर यशवंत क्लब में सदस्यता देने पर जिला कोर्ट ने लगाई रोक

यशवंत क्लब में ईओजीएम (असाधारण सभा) में सदस्यता देने के संबंध में हुए फैसले पर जिला कोर्ट ने रोक लगा दी है। इस मामले...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 01, 2018, 04:45 AM IST

यशवंत क्लब में ईओजीएम (असाधारण सभा) में सदस्यता देने के संबंध में हुए फैसले पर जिला कोर्ट ने रोक लगा दी है। इस मामले में मंगलवार को दाखिल हुई याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने आदेश दिए किए कि जब तक इस मामले में अदालत का अगला आदेश नहीं आ जाता, तब तक क्लब मैनेजिंग कमेटी इस फैसले के तारतम्य में सदस्यता नहीं दे।

न्यायाधीश रशिम मंडलोई ने मैनेजिंग कमेटी को यथास्थित बनाए रखने के निर्देश दिए। वहीं, इस मामले में क्लब सदस्य संजय गोरानी ने भी इंटरविनर बनने के लिए याचिका लगाई है, जिसमें कहा गया है कि इस फैसले से हम प्रभावित हो रहे हैं। इसलिए हमें भी पार्टी बनाया जाए। अगली सुनवाई 5 मार्च को होगी। वहीं, याचिकाकर्ता अजय पटवा की ओर से वकील अजय मिश्रा ने तर्क रखे कि यदि ईओजीएम के सदस्यता मसले पर स्टे नहीं दिया जाता है तो फिर याचिका का अर्थ नहीं रहेगा, क्योंकि मैनेजिंग कमेटी कई लोगों को सदस्यता दे देगी। उन्होंने यह भी कहा कि इस मामले में मैनेजिंग कमेटी द्वारा कोई पक्ष भी नहीं रखा गया है। ऐसे में उचित होगा कि फैसले पर रोक लगाई जाए। इस तर्क को मान्य करते हुए जिला कोर्ट ने स्टे दे दिया। याचिकाकर्ता ने साथ ही इस फैसले को विधि शून्य घोषित करने की भी मांग की है।

ये है सदस्यता विवाद

ईओजीएम में प्रस्ताव था कि क्लब सदस्य की संतान 25 से 35 साल की हो तो तीन लाख और 35 से 45 साल की है तो 10 लाख रुपए देकर सदस्य बन सकती है, लेकिन बाद में प्रस्ताव को बदलते हुए कर दिया गया कि किसी भी उम्र की संतान सदस्य बन सकती है। इसमें 45 उम्र के बंधन खत्म करने प्रस्ताव पास कर दिया गया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Indore News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: ईओजीएम के फैसले पर यशवंत क्लब में सदस्यता देने पर जिला कोर्ट ने लगाई रोक
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×