Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» 8 दिन पहले ही गिरी थी छत, पापा ने बता दिया था, लेकिन होटल मालिक ने नहीं दिया ध्यान

8 दिन पहले ही गिरी थी छत, पापा ने बता दिया था, लेकिन होटल मालिक ने नहीं दिया ध्यान

खंडवा निवासी धर्मेंद्र पिता देवराम (36) मलबे में दबा हुआ था। सिर्फ चेहरा दिखाई दे रहा था। होश आने पर जब उसने बचाने के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 04:50 AM IST

8 दिन पहले ही गिरी थी छत, पापा ने बता दिया था, लेकिन होटल मालिक ने नहीं दिया ध्यान
खंडवा निवासी धर्मेंद्र पिता देवराम (36) मलबे में दबा हुआ था। सिर्फ चेहरा दिखाई दे रहा था। होश आने पर जब उसने बचाने के लिए आवाज लगाई तो लोगों ने दीवार के 2 से 5 फीट के टुकड़े तोड़कर उसे निकाला और अस्पताल पहुंचाया। उसके एक पैर में फ्रैक्चर हुआ है। फोटो : संदीप जैन

ईंट-गर्डर से बनी 80 साल पुरानी जर्जर बिल्डिंग, जिस पर दो मंजिलंे और तान दी गई थीं

महज 20 सेकंड में भर-भराकर गिर गई इमारत

भास्कर संवाददाता | इंदौर

सरवटे बस स्टैंड के पास शनिवार रात चार मंजिला एमएस होटल 20 सेकंड में भर-भराकर ढह गया। मलबे में दबने से होटल मैनेजर सहित 10 लोगों की मौत हो गई, जबकि दो घायल हो गए। कई लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है। बिल्डिंग के नीचे खड़ा ऑटो रिक्शा और कार भी चकनाचूर हो गए।

बिल्डिंग धराशायी होते ही पांच मिनट तक पूरे क्षेत्र में धूल का गुबार फैल गया। वहां की लगभग सारी दुकानें, होटल और रेस्त्रां बंद कर लोग मदद में जुट गए। अंधेरा होने की वजह से लोगों ने मोबाइल की टाॅर्च जलाकर घायलों को निकालने में मदद की। घटना के आधे घंटे बाद जेसीबी आई, तब मलबा हटाना शुरू किया गया। हादसे में जान गंवाने वाले होटल के मैनेजर हरीश सोनी की बेटी किरण ने कहा कि 8 दिन पहले होटल की छत भी गिरी थी। इसके बारे में पापा ने बता दिया था, लेकिन होटल मालिक ने ध्यान नहीं दिया।

मरने वालों में 3 इंदौर के संख्या और बढ़ सकती है

कुल 36 पेज, 22 पेज + सिटी भास्कर 4 पेज + अहा! जिंदगी 4 पेज + डीबी स्टार 6 पेज (नि:शुल्क), मूल्य Rs. 6.00 | वर्ष 35, अंक 89, महानगर

चौथी मंजिल कच्ची थी, बेसमेंट में भरा था पानी

इमारत हादसे में गंभीर लापरवाही सामने आई है। होटल एमएस की जो इमारत गिरी है, वह 80 साल पुरानी और जर्जर हो चुकी थी। चौंकाने वाली बात यह है कि जिस इमारत को खतरनाक घोषित कर गिराया जाना था, उस पर कुछ समय पहले ही दो मंजिल और तान दी गई। चौथी मंजिल पर तो निर्माण ही कच्चा था। बताते हैं कि होटल के बेसमेंट में भी पानी भरा था, जिससे उसकी नींव भी लगातार कमजोर हो रही थी।

इंदौर, रविवार 01 अप्रैल, 2018

मलबे में कई लोगों के दबे होने की आशंका है

देर रात तक होटल मालिक नहीं पहुंचा

होटल का मालिक शंकर परवानी घटना स्थल पर नहीं पहुंचा। भास्कर ने परवानी के मोबाइल नंबर पर कई बार कॉल किए, लेकिन किसी ने नहीं उठाया। पुलिस होटल मालिक पर भी कड़ी कार्रवाई की तैयारी में है। आला अफसरों ने कहा कि होटल मालिक के खिलाफ जानलेवा लापरवाही का मामला दर्ज किया जाएगा।

सरवटे बस स्टैंड पर होटल ढही, 10 की मौत

आप पढ़ रहे हैं देश का सबसे विश्वसनीय और नंबर 1 अखबार

वैशाख कृष्ण पक्ष-प्रतिपदा, 2075

सरवटे बस स्टैंड का पिछला गेट

यहां हुआ हादसा

जूनी इंदौर की ओर

यह थी चार मंजिला होटल जो धराशायी हो गई।

शनिवार होने के कारण ज्यादा भीड़ थी

अपना होटल

दिलीप होटल

छोटी ग्वालटोली रोड

घटना स्थल

मधुमिलन की ओर जाने वाला मार्ग

नसिया रोड

चमत्कार की तरह बच गया 36 वर्षीय धर्मेंद्र, पर सब उसकी तरह किस्मत वाले नहीं थे

सरवटे बस स्टैंड के समीप का यह हिस्सा भीड़-भाड़ वाला इलाका माना जाता है। क्षेत्र में 15 से ज्यादा होटल और रेस्टारेंट हैं। शनिवार का दिन होने और रविवार की छुट्टी के चलते ज्यादा भीड़ थी। भारी संख्या में लोगों की मौजूदगी थी। जिस वक्त हादसा हुआ 25 लोग होटल के नीचे ही खड़े थे। वहीं स्थित पान की दुकान पर भी लोग खड़े थे। जबकि आसपास रोड पर वाहनों की आवाजाही जारी थी। हादसे के दौरान रोड से गुजर रहे लोग घबरा गए। पान की दुकान पर खड़े लोग वहां से भाग गए।

हादसे के बाद एटीएम में रखा पैसा बचाने की भी कवायद

देर रात पुलिस-प्रशासन और निगम की टीमें मलबा हटाने और दबे हुए लोगाें की खोज करने में जुटी थीं, लेकिन इसके साथ ही पुलिस ने मलबे में दबी एटीएम मशीन और उसमें रखा पैसा भी निकालने की कवायद शुरू कर दी थी।

-मृत होटल मैनेजर की बेटी किरण

12 राज्य | 66 संस्करण

देर रात तक मलबा हटाती रही रेस्क्यू टीम

होटल ढहने के बाद देर रात तक रेस्क्यू टीम मलबा हटाती रही। वहीं घटना की सूचना पाकर पुलिस प्रशासन के साथ शहर के दूर-दूर से लाेग पहुंच गए थे और वे भी बचाव कार्य में लगे रहे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×