Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» एक माह पहले रोड खोदकर छोड़ दी, 20 कॉलोनी के लोग परेशान, स्कूल बसें आना बंद

एक माह पहले रोड खोदकर छोड़ दी, 20 कॉलोनी के लोग परेशान, स्कूल बसें आना बंद

नगर निगम के आर्थिक संकट के चलते कई निर्माण कार्य शुरू तो हुए, लेकिन भुगतान नहीं हो पाने से अधूरे छोड़ दिए गए हैं।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 02:05 PM IST

नगर निगम के आर्थिक संकट के चलते कई निर्माण कार्य शुरू तो हुए, लेकिन भुगतान नहीं हो पाने से अधूरे छोड़ दिए गए हैं। ऐसा ही एक मामला राजमोहल्ला क्षेत्र की अधूरी पड़ी सीवरेज लाइन का है। एक माह पहले सड़क खोदकर छोड़ देने से 20 कॉलोनियों के स्कूली बच्चों के लिए खतरनाक स्थिति पैदा हो गई है। सड़क खुदी होने से इससे सटी 20 कॉलोनियों में 10 से अधिक स्कूलों की बसों का घुसना बंद हो गया है। स्कूल संचालक मजबूरन बच्चों को भारी ट्रैफिक के बीच उतारने पर मजबूर हैं, जो कभी भी दुर्घटना का सबब बन सकता है।

राज मोहल्ला क्षेत्र में सीवरेज सेकेंडरी लाइन का काम निगम द्वारा किया जा रहा है। इससे जुड़ी हरिजन कॉलोनी, गुलाब बाई का बगीचा, सुरखाखेड़ी, इंदिरा नगर, आदर्श नगर, गंगा बाई जोशी नगर, लोकनायक नगर, पंचमुखी नगर आदि कालोनियां जुड़ी हैं। मुख्य मार्ग के दोनों ओर खुदाई कर छोड़ देने से रास्ता लगभग बंद है। रहवासियों को दूसरे मार्गो से होकर निकलना पड़ रहा है। यह मार्ग धार नाका का लिंक मार्ग भी होने से जब वहां ट्रैफिक बढ़ता है, तो इसी पर लोड बढ़ता है।

ठेकेदार स्वच्छता सर्वेक्षण में लगा, कुछ दिन रुका है काम

इस समस्या के बारे में क्षेत्रीय पार्षद सुधीर देंड़गे से बात करने पर उन्होंने कहा कि विवाद जैसी कोई बात नहीं है। ठेकेदार स्वच्छता सर्वेक्षण में लगा है, इसलिए कुछ दिनों के लिए काम रुक गया है। यहां पर पानी के बहुत सारे कनेक्शन थे और सेकेंडरी लाइन के कारण पानी की पाइप लाइन भी बार-बार फूट रही थी, इसलिए काम बंद किया है। नई नर्मदा की लाइन डालने के लिए वर्क आर्डर हो चुके हैं, 7500000 रुपए की लागत से एक फीट की लाइन डाल रहे हैं। उसके बाद सीवरेज लाइन का काम भी शुरू कर शीघ्र ही मार्ग को समतल कर दिया जाएगा।

पाइप लाइन फूट जाने के बाद ठेकेदार से विवाद हो गया था

रहवासियों का कहना है कि न तो स्कूल बस कॉलोनियों में आ रही और न अन्य चार पहिया वाहन। सड़क खोदने के दौरान पानी की लाइन फूट गई थी और 8 से 10 दिन तक जल संकट का सामना भी करना पड़ा। इस कारण ठेकेदार से लोगों की कहासुनी हो गई थी और विवाद के बाद वह काम छोड़कर चला गया।

जल्द ही शुरू करेंगे काम

ठेकेदार अशोक चौहान का कहना है नर्मदा की लाइन फूटने से पानी का लेवल ऊपर आ गया था, इससे रहवासियों को भी परेशानी हो रही थी। इसी के चलते थोड़ी कहासुनी हो गई थी। रविवार के दिन यहां काम करना मुश्किल हो जाता है, भीड़ भी बहुत हो जाती है। कुछ लोगों ने जेसीबी पर पथराव भी कर दिया था, इसलिए भी काम रोकना पड़ा। अब दो चार-पांच दिन में काम शुरू कर देंगे। इस बारे में झोनल अधिकरी लक्ष्मीकांत बाजपेयी का कहना है सीवरेज लाइन डालने के कारण पानी के बहुत सारे कनेक्शन कट गए व नर्मदा लाइन फूट गई थी, इसलिए काम रोका। अब सड़क के दोनों ओर नर्मदा लाइन डाली जाएगी, हाथों-हाथ कनेक्शन भी और पानी की समस्या भी नहीं आएगी। सीवरेज की सेकंड लाइन का भी काम शुरू हो जाएगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×