इंदौर

--Advertisement--

आठ परियोजनाओं के लिए फंड, छोटे शहरों से भी इंदौर के जुड़ने की उम्मीद

इंदौर से दिल्ली के बीच दूरंतो ट्रेन चलाई जाए, अन्य मांगें भी हैं...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:05 PM IST
इंदौर से दिल्ली के बीच दूरंतो ट्रेन चलाई जाए, अन्य मांगें भी हैं...




(यह मांगें रेल मंत्रालय से विभिन्न सामाजिक संगठनों, व्यापारिक संगठनों और जनप्रतिनिधियों ने की है।)


इन परियोजनाओं को भी मिलती राशि तो बढ़ती कनेक्टिविटी

इंदौर-जबलपुर नई रेल लाइन वाया कन्नौद




इंदौर-मनमाड़ नई रेल लाइन




इंदौर, रतलाम, उज्जैन सेक्शन की स्पीड




बजट में इंदौर को कोई नई ट्रेन नहीं मिल रही है

इंदौर | आम बजट के साथ 1 फरवरी को पेश होने वाले रेल बजट में निराशाजनक यह है कि इंदौर को कोई नई ट्रेन नहीं मिल रही है। वहीं राहत यह है कि इंदौर से जुड़ी 11 बड़ी रेल परियोजनाओं में से 8 के लिए फंड मिलने की उम्मीद है। कुछ शहर ऐसे हैं, जहां से इंदौर की रेलमार्ग से कनेक्टिविटी नहीं है। प्रोजेक्ट पूरे होते ही कनेक्टिविटी हो जाएगी। हर बार उपेक्षा का शिकार तीन बड़े प्रोजेक्ट को इस बजट से भी कोई आस नहीं है।

इन परियोजनाओं में है फंड मिलने की उम्मीद

इंदौर-उज्जैन दोहरीकरण



फायदा : क्रॉसिंग के लिए नहीं रोकना पड़ेगा ट्रेनों को।

महू-खंडवा गेज कन्वर्जन




इंदौर-दाहोद नई रेल लाइन




धार-छोटा उदयपुर नई रेल लाइन




उज्जैन-फतेहाबाद गेज कन्वर्जन

उज्जैन-फतेहाबाद गेज कन्वर्जन



फायदा : उज्जैन के लिए एक और नई लाइन मिलेगी। इंदौर-उज्जैन की दूरी कम होगी।

लक्ष्मीबाईनगर-रतलाम वाया फतेहाबाद विद्युतीकरण




इंदौर-रतलाम वाया फतेहाबाद दोहरी




मांगलिया रेलवे स्टेशन शिफ्टिंग




X
Click to listen..