--Advertisement--

मृत्यु भोज में व्यसन मुक्त समाज की स्थापना का फैसला

News - जिले सहित प्रदेश के अन्य शहरों व महाराष्ट्र राज्य में निवासरत वाणी समाजजनों ने समाज में किसी की मृत्यु होने पर...

Dainik Bhaskar

Mar 02, 2018, 03:40 AM IST
मृत्यु भोज में व्यसन मुक्त समाज की स्थापना का फैसला
जिले सहित प्रदेश के अन्य शहरों व महाराष्ट्र राज्य में निवासरत वाणी समाजजनों ने समाज में किसी की मृत्यु होने पर तेरहवीं पगड़ी के दिन बनने वाले मृत्यु भोज में मिठाई व नमकीन नहीं बनाने का निर्णय सर्वसम्मति से लिया। इस संबंध में जोबट में हुई समाज की बैठक में तय किया गया कि मृत्युभोज प्रसादी का भोजन पूरी तरह से सादा बनेगा। जिससे अनावश्यक खर्च से बचा जा सके और समाज में फिजूल खर्ची रोकने की दिशा में यह एक प्रेरक कदम साबित हो।

अखिल भारतीय वाणी समाज के अध्यक्ष योगेंद्र वाणी ने बताया कि समाजजनों की सहमति बनने पर तय किया गया कि मृत्यु भोज में सिर्फ साधारण प्रसादी का भोजन ही बनाया जाएगा। पगड़ी कार्यक्रम में प्रसादी भोजन से मिठाई, नमकीन, सेव, भजिया, आलू बड़ा, कचोरी जैसे आयटम नहीं रखने पर सभी समाजजनों ने अपने अपने विचार रखे। बैठक में जयंतिलाल वाणी, महेंद्र वाणी सहित पदाधिकारी व समाजजन उपस्थित थे। अध्यक्ष योगेंद्र वाणी ने बताया कि विवाह समारोह के दौरान लग्न व प्रीति भोज को भी व्यसन मुक्त रखने पर जोर दिया गया। ऐसे आयोजनों में व्यसन का कोई स्थान नहीं होना चाहिए यह तय हुअा। समारोह में यदि नशे का उपयोग किए हुए कोई दिखाई दे तो उसे बख्शा नहीं जाएगा। सभी ने व्यसन मुक्त समाज बनाए रखने पर सहमति जताई।

निर्णय

समाज के समारोह में यदि नशे का उपयोग किए हुए कोई दिखाई दे तो उसे बख्शा नहीं जाएगा

जोबट में वाणी समाज की बैठक में शामिल समाजजन।

सूखे रंग से होली खेलने का निर्णय

बैठक के अंत में जोबट व नानपुर में अखिल भारतीय वाणी समाज की ओर से होली पर्व की शुभकामनाएं दी गई और सूखे रंग से होली खेलने का सामूहिक निर्णय लिया गया। बैठक में अखिल भारतीय वाणी समाज की ओर से आगामी आयोजन और प्रयोजन पर भी चर्चा की गइ्र। पश्चात अखिल भारतीय वाणी समाज के पदाधिकारी, नानपुर वाणी समाज और युवा की बैठक हुई। बैठक में नानपुर समाज अध्यक्ष मनोहर लाल, पूर्व अध्यक्ष कैलाशचंद्र, सुरेश, महेंद्र गिरधरलाल, कमलेश दामुसा, राजेंद्र वाणी, रजनीकांत वाणी आदि शामिल थे।

X
मृत्यु भोज में व्यसन मुक्त समाज की स्थापना का फैसला
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..