--Advertisement--

काम, क्रोध, मोह व माया व्यक्ति को मरते दम तक नहीं छोड़ते

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:25 PM IST

News - भास्कर संवाददाता | आलीराजपुर देह को सात्विक बनाओगे तभी भगवान में मन लगेगा। जब तक मन तामसी है, तब तक भजन में मन...

काम, क्रोध, मोह व माया व्यक्ति को मरते दम तक नहीं छोड़ते
भास्कर संवाददाता | आलीराजपुर

देह को सात्विक बनाओगे तभी भगवान में मन लगेगा। जब तक मन तामसी है, तब तक भजन में मन नहीं लगेगा। व्यक्ति का आहार शुद्ध होगा तभी हमारा मन शुद्ध होगा। संतों को देखो उनका आहार व विचार शुद्ध और सात्विक रहता है। काम, क्रोध, लोभ, मोह, माया, अभिमान, मरते दम तक व्यक्ति को नहीं छोड़ते हैं। कथाएं इन गलत आदतों से कोसों दूर ले जाती हैं। यह बात प्रसिद्ध धार्मिक स्थल ग्राम भोरण के शिवगंगा हनुमान मंदिर पर 25 से 31 जनवरी तक पंचकुंडीय श्री कुबेर महालक्ष्मी महायज्ञ और श्रीमद् भागवत ज्ञान गंगा कथा यज्ञ के अंतिम दिन बुधवार को कथा वाचक पं. अरविंद भारद्वाज नागदा वाले ने कही। भागवत कथा और यज्ञ में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। कार्यक्रम के मुख्य यजमान कट्ठीवाड़ा जनपद पंचायत अध्यक्ष भदू भाई पचाया थे।

इससे पूर्व मंगलवार को कथा के छठवें दिन पं. भारद्वाज ने कहा कि सौ काम छोड़ कर व्यक्ति को भोजन करना चाहिए। हजार काम छोड़ कर व्यक्ति को स्नान करना चाहिए। लाख काम छोड़ कर व्यक्ति को दान करना चाहिए और करोड़ों काम छोड़ कर व्यक्ति को हरि का स्मरण करना चाहिए। जीवन में हमेशा छोटा बन कर जिओ। परमात्मा और संत की कृपा बनी रहे इसलिए उनसे हमेशा जुड़ कर रहो। भगवान का नाम लेने का मौका सिर्फ मनुष्य जीवन में ही मिलता है, अन्य योनियों में नही। उन्होंने रोचक ढंग से श्लोक, भजन, शष्टांग आदि के द्वारा भागवत कथा का सार समझाया। छठवें और सातवें दिन कृष्ण बने मनिहारी प्रसंग, कृष्ण लीला, कालिया नाग की कथा, अकरुट की कथा, जशोदा कन्हैया का करुणामयी संवाद, रुक्मणि कृष्ण विवाह का वृतांत सुनाया। कथा में संगीत मंडली ने भजनों की प्रस्तुति दी। पांडाल में उपस्थित श्रोता जमकर थिरके। भागवत कथा और यज्ञ की पूर्णाहुति हुई। भदू पचाया, शर्मी बाई और श्रद्धालुओं ने महाआरती में हिस्सा लिया। यज्ञ शाला में यज्ञाचार्य पं. जगदीश व्यास और सहयोगियो ने सात दिन तक विधि विधान के साथ यज्ञ में आहुति डलवाई अंतिम दिन पूर्णाहुति करवाई।

कार्यक्रम संयोजक व मंदिर महंत सतानंद महाराज ने बताया पंछी वाले बाबा के आशीर्वाद से भोरण मंदिर में दूसरी बार जनजन के कल्याण और सर्व मनोकामना पूर्ण होने के उद्देश्य से महायज्ञ और भागवत कथा की गई। कार्यक्रम को सफल बनाने में

संरक्षक विधायक नागरसिंह चौहान, अजय शर्मा, निरंजन चौहान, सर्वजन समिति शिवगंगा हनुमान मन्दिर भोरण के सदस्यों का सहयोग रहा।

आज होगा भंडारा

उन्होंने बताया कि गुरुवार को सुबह 10 बजे से विशाल भंडारे का आयोजन होगा। आयोजन समिति ने सभी श्रद्धालुओं से सपरिवार भंडारे में शामिल होने का आव्हान किया।

आयोजन



भोरण में पंचकुंडीय श्री कुबेर महालक्ष्मी महायज्ञ व कथा का समापन पर पं. भारद्वाज ने कहा

ग्राम भोरण में कथा पांडाल में भजनों पर झूमते हुए महिलाएं और श्रद्धालु।

X
काम, क्रोध, मोह व माया व्यक्ति को मरते दम तक नहीं छोड़ते
Astrology

Recommended

Click to listen..