--Advertisement--

अहंकार मनुष्य के पतन का सबसे बड़ा कारण : सुधाकर महाराज

अहंकार मनुष्य के पतन का सबसे बड़ा कारण हैं। मानवता ही सबसे बड़ी पूंजी है। प्रभु के लिए सच्चे मन से रोना पड़ता है। रोए...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 03:00 AM IST
अहंकार मनुष्य के पतन का सबसे बड़ा कारण हैं। मानवता ही सबसे बड़ी पूंजी है। प्रभु के लिए सच्चे मन से रोना पड़ता है। रोए बिना श्रीकृष्ण नहीं आते।

यह बात फुटतालाब में चल रही भागवत कथा के दौरान कथा वाचक प्रमोद सुधाकरजी महाराज ने कही। उन्होंने जब गोपियों से श्रीकृष्ण के विरह के संवाद व्यासपीठ से कहे तो पंडाल गोपियों के प्रभु प्रेम और समर्पण के संवाद सुनकर भावुक हो गया। कंस वध, रुक्मिणी कृष्ण विवाह, श्रीकृष्ण का अपने मित्र सुदामा से मिलन, द्वारिकाधीश की लीलाओं के साथ श्रीराधाकृष्ण के अतुलनीय प्रेम का सर्वश्रेष्ठ वर्णन किया।

उन्होंने कहा संपत्ति सबके पास होती है लेकिन दिल किसी-किसी के पास होता हैं। कथा के समापन पर सांसद कांतिलाल भूरिया, पूर्व विधायक वीरसिंह भूरिया, वालसिंह मेड़ा, जिला पंचायत अध्यक्ष कलावती भूरिया, शैलेष दुबे, बबलू सकलेचा, इरशाद कुरैशी, शांतिलाल पडियार, वालसिंह मेड़ा आदि मौजूद थे। सफल आयोजन पर समाजसेवी सुरेशचंद्र जैन ने आभार माना। इससे पहले मारुति नंदन हनुमान मंदिर फुटतालाब में शनिवार दोपहर 12 बजे हनुमानजी की आरती की गई। में संतश्री रामदासजी त्यागी, मंदिर के महंत मुकेशदासजी महाराज, सुरेशचंद्र पूरणमल जैन, रिंकू जैन, जैकी जैन सहित श्रद्धालुओं ने भाग लिया। जैन परिवार ने यज्ञ की पूर्णाहुति की।

भागवत कथा

फुटतालाब में मना कृष्ण जन्मोत्सव, मारुति नंदन हनुमान मंदिर पर महाआरती के साथ हुई यज्ञ की पूर्णाहूति

फुटतालाब में नौ दिन चले यज्ञ की पूर्णाहुति में शामिल आयोजिक व अन्य अतिथि।

कॉमेडी शो की पलक ने दी प्रस्तुति

शुक्रवार रात गुजरात के त्रिलोक मोदी ने जैन भजनों की प्रस्तुति दी। मोदी ने श्री नाकोड़ा भैरव, महावीर स्वामी और प्रसिद्ध जैन महातीर्थ मोहनखेड़ा को जब अपने श्रेष्ठ भजन अर्पित किए तो सभी भावविभोर हो गए। कपिल शर्मा के कॉमेडी शो की स्टार पलक को देखने बड़ी संख्या में दूर दूर से लोग पहुंचे। पलक ने कई अलग-अलग किरदारों में अपनी प्रस्तुति से उपस्थित लोगों को खूब हंसाया।