Home | Madhya Pradesh | Indore | Without shaving groom came with the procession

बगैर शेविंग कराए बारात लेकर आया दूल्हा, ससुर ने रखी ये शर्त और नहीं हुई शादी

मामला बिगड़ता देख बुजुर्गों और रिश्तेदारों ने समझाइश दी, पुलिस ने भी दोनों पक्षों को जिद पर अड़े न रहने की सलाह दी।

Bhaskar news| Last Modified - Mar 14, 2018, 12:35 AM IST

1 of
Without shaving groom came with the procession
दूल्हा और दुल्हन।

खंडवा(मध्यप्रदेश). जिला मुख्यालय से करीब 18 किलोमीटर दूर अजंटी गांव में आई बरात की लगन रस्में दूसरे दिन शुरू हो सकीं। रस्में रात में होनी थी लेकिन दूल्हा की दाढ़ी होने के कारण लड़की के पिता ने विवाह करने से इंकार कर दिया। उसने शेविंग  कराने की मांग की। दूल्हा ने पिता के मिलने तक दाढ़ी नहीं बनवाने की  मन्नत रखी थी इस कारण उसने भी शेविंग कराने से इंकार कर दिया था फिर रात भर समझाइश के बाद दूसरे दिन लग्न की रस्में हुईं। ये था पूरा मामला...

  
- अजंटी में सोमवार शाम राधेश्याम जाधव की बेटी रूपाली की शादी थी। गांव के मनोज धीमान ने बताया कि  हरसूद ब्लाक के  जूनापानी से  मंगल चौहान बारात लेकर गांव आया।

- ससुर राधेश्याम ने दूल्हे को दाढ़ी में देखकर एतराज जताया। उन्होंने बगैर दाढ़ी कटाए शादी करने से इंकार कर दिया।

- दूल्हा बना मंगल सिंह भी शेविंग  नहीं कराने पर अड़ गया। शाम छह बजे का शादी का  मुहूर्त निकल गया। देर रात तक जब दोनों पक्षों में सहमति नहीं बनी तो बरात वापस लौट गई। 

- बारात गांव के बाहर सड़क पर आ गई। बुजुर्गों व रिश्तेदारों ने मामला बिगड़ता देख समझाने का प्रयास किया।

- लड़की वाले शेविंग  कराने के बाद ही  शादी करने पर अड़े रहे और रात बीतती गई। फिर गांव वालों ने डायल 100 लगाया और पुलिस आई।

- उन्होंने पूरे मामले को समझा और दोनों पक्षों को समझाया फिर भी बात नहीं बनीं।

- अगले दिन सुबह लड़का शेविंग  कराने के लिए तैयार हुआ और इसके बाद फेरे हुए।

 

वधु पक्ष का कहना- एक महीने पहले दूल्हे की नहीं थी दाढ़ी

 

- लड़की वालों ने बताया कि एक महीने पहले मंगल चौहान आया था तब दाढ़ी नहीं थी।

- बरात लेकर आए तो दाढ़ी है। दूल्हा ऐसा कभी नहीं आता है।  शेविंग  कराने को कहा तो मना कर दिया, इस कारण विवाद हुआ।

  
मंदिर में माफी के बाद कराई शेविंग

 

दूल्हे को समझाया कि वह मंदिर में क्षमा मांगकर मन्नत उतार दे और शेविंग करा ले।

 

पिता के गुमने पर मांगी थी मन्नत

 

- लड़के वालों ने बताया कि दूल्हा मंगल चौहान के पिता रायसिंह तीन साल पहले कहीं चले गए और वापस नहीं आए थे।

- इस कारण मंगल ने पिता के मिलने तक दाढ़ी नहीं बनवाने की मन्नत रख ली थी। इस कारण शेविंग नहीं कराई थी। दूल्हा मंगल व उसका भाई बगैर शेविंग के बरात लेकर गए थे।  

 

Without shaving groom came with the procession
पहले इस तरह आया था दूल्हा।
prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now