मप्र / कमलनाथ बोले- 'शिवराजजी घोषणा की राजनीति करते हैं; मैं आपके सामने काम करूंगा'

झाबुआ विधानसभा उपचुनाव जीतने के बाद पहली बार झाबुआ पहुंचे सीएम कमलनाथ। झाबुआ विधानसभा उपचुनाव जीतने के बाद पहली बार झाबुआ पहुंचे सीएम कमलनाथ।
X
झाबुआ विधानसभा उपचुनाव जीतने के बाद पहली बार झाबुआ पहुंचे सीएम कमलनाथ।झाबुआ विधानसभा उपचुनाव जीतने के बाद पहली बार झाबुआ पहुंचे सीएम कमलनाथ।

  • उपचुनाव में जीत के बाद पहली बार झाबुआ पहुंचे सीएम, 3 करोड़ 20 लाख के कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया
  • 10वीं और 12वीं में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली 10-10 बालिकाओं को 5-5 हजार रुपए प्रदान किए

Dainik Bhaskar

Dec 03, 2019, 07:58 PM IST

झाबुआ. विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस काे बड़ी जीत दिलाने के बाद मंगलवार काे पहली बार मुख्यमंत्री कमलनाथ झाबुआ पहुंचे। पाॅलिटेक्निक कॉलेज मैदान पर आयाेजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने 3 करोड़ 20 लाख रुपए के विकास कार्यों का भूमिपूजन और शिलान्यास किया। कई हितग्राहियों को योजनाओं का लाभ भी दिया। उपचुनाव में कांग्रेस की जीत पर मुख्यमंत्री ने जनता का आभार जताया। कहा- हमारा आपका संबंध चुनावी नहीं, दिल से है। पूर्व सीएम पर निशाना साधते हुए कहा कि शिवराजजी घोषणा की राजनीति करते हैं। मैं घोषणाओं पर विश्वास नहीं करता। आपके सामने करूंगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अपने कांग्रेस को चुनाव जिताकर अपने भविष्य को सुरक्षित किया है। चुनाव के समय मैंने कहा था कि मैं आपसे दिल का संबंध बनाना चाहता हूं। यदि पिछली भाजपा सरकार ने यहां 15 सालों में कुछ काम किया होता तो आज आपको- मुझे ये आवेदन देने की जरूरत नहीं होती। मुझे खुशी है कि आपने इतनी बड़ी तादात में मुझे आवेदन दिए हैं। क्योंकि आवेदन वही दिए जाते हैं, जहां उम्मीद होती है, विश्वास होता है। हमने एक साल में अपनी नीति और नीयत से प्रदेश को आगे ले जाने का काम किया है।

घोषणा नहीं करता, आपके सामने काम करूंगा

मुख्यमंत्री ने कहा- शिवराजजी यहां आते थे और कई घोषणाएं करते थे। लेकिन, मैंने कहा था- मैं घोषणा नहीं करूंगा, जो करूंगा आपके सामने करूंगा। आपको निराश नहीं होने दूंगा। घोषणा करना बहुत आसान है, लेकिन उसे करना मुश्किल है। मैं घोषणा की राजनीति नहीं करता।

कर्जमाफी का वादा किया था, पहली किश्त में 21 हजार किसान लाभान्वित

आज के युवाओं को हाथ में काम चाहिए। हम इसी दिशा में प्रयासरत हैं। हमने चुनाव में जो कर्जमाफी का वादा किया था। उसे निभाते हुए पहली किश्त में हमने 21 हजार किसानों का कर्जा माफ किया। भाजपाई आलोचना की राजनीति करते हैं। मैं इनसे कहना चाहता हूं कि आप आइए और मप्र और मप्र के आदिवासियों के हित में सुझाव दीजिए। आप अपने 15 साल का हिसाब दीजिए, हमारे 9 महीनों के काम की आलोचना तब कीजिए। हम पांच -10 तो छोड़िए 15 साल कहीं नहीं जाने वाले हैं।   


हितग्राहियों को दिया लाभ

  • वन अधिकार अधिनियम के अंतर्गत 20 हितग्राहियों को वन अधिकार पत्र दिए।
  • 5 लाड़ली लक्ष्मी योजना के तहत हर एक को 1.18 लाख की राशि एवं प्रमाण पत्र वितरित किए। 
  • बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना अंतर्गत 2018-19 में कक्षा 10वीं और 12वीं में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली 10-10 बालिकाओं को 5-5 हजार रुपए प्रदान किए।
  • महिला बाल विकास विभाग द्वारा संचालित वन स्टाप सेंटर के अंतर्गत उत्कृष्ट सेवाओं के लिए लीला परमार एवं 6 आंगनबाड़ी केंद्र की कार्यकर्ताओं को सम्मान पत्र प्रदान किए।
  • मत्स्योद्योग द्वारा 6 स्वयं सहायता समूहों को व 1 समिति को मछली पालन पट्टा दिया गया।
  • मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अंतर्गत 25 हितग्राहियों को 40.90 लाख, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण के 19 हितग्राहियों को 9.50 लाख, नगद साख सीमा में 26 स्वयं सहायता समूहों को 26.28 लाख, सामुदायिक निवेश निधि के 102 हितग्राहियों को 80.15 लाख की राशि का वितरित की गई।

यह सौगात मिली

  • 10 सामुदायिक भवन जिनकी लागत 2 करोड 22 लाख है का शिलान्यास किया।
  • 40 लाख की लागत के आजीविका भवन का लोकार्पण।
  • 19 स्टापडेम मरम्मत कार्य का शिलान्यास, जिन पर 1 करोड़ 58 लाख 96 हजार रुपए खर्च होना है।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना