--Advertisement--

भोपाल के हॉस्टल संचालक के खिलाफ इंदौर में भी दुष्कर्म का केस दर्ज; चौथी लड़की भी सामने आई, कहा- अश्लील फिल्म दिखाकर किया दुष्कर्म

अब तक चार केस दर्ज, दो ने दुष्कर्म और दो ने छेड़छाड़ की शिकायत की

Dainik Bhaskar

Aug 12, 2018, 01:22 AM IST
युवती की शिकायत पर शनिवार रात युवती की शिकायत पर शनिवार रात

इंदौर. भोपाल के अवधपुरी स्थित हॉस्टल में मूकबधिर युवतियों के साथ दुष्कर्म और छेड़छाड़ के आरोपी हॉस्टल संचालक अश्वनी शर्मा के खिलाफ शनिवार को हीरानगर थाने में एक और केस दर्ज किया गया।

धार की रहने वाली 23 वर्षीय छात्रा ने बताया कि जब वह हॉस्टल में थी तब उसकी तीन साथियों की मौजूदगी में आरोपी अश्वनी ने मोबाइल पर अश्लील फिल्म दिखाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। यही नहीं जब शिकायत के लिए बोला तो उसने धमकाया भी था। इसके पूर्व वह छेड़छाड़ भी करता आ रहा था। युवती की शिकायत पर शनिवार रात को हीरानगर पुलिस ने दुष्कर्म, छेड़छाड़ सहित अन्य धाराओं में शून्य पर केस दर्ज कर डायरी भोपाल
भेजी है।

इंदाैर की बहनों ने छेड़छाड़, धार की मूकबधिर पीड़िता ने ज्यादती का केस दर्ज कराया: उल्लेखनीय है कि भोपाल के अवधपुरी में क्रिस्टल आइडल पार्क नामक कॉलोनी में बने हॉस्टल में मूकबधिर युवतियों के साथ दुष्कर्म और छेड़छाड़ का मामला सामने आया था। इंदौर के हीरा नगर थाने में दो बहनों ने हॉस्टल संचालक के खिलाफ छेड़छाड़ का केस दर्ज करवाया था। वहीं धार में एक मूकबधिर ने उसके खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज करवाया था। शनिवार को छात्रा हीरा नगर थाने पहुंची जहां सांकेतिक भाषा विशेषज्ञ के माध्यम से थाने में केस दर्ज करवाया गया।

पुलिस के कई सवालों पर चुप्पी, नेता-अफसर से संबंध से इनकार: एसआईटी के सामने पूछताछ में अश्वनी ने किसी नेता या अधिकारी से संबंध होने की बात से इनकार किया है। हालांकि वह पुलिस के अधिकांश सवालों पर चुप्पी साधता रहा। पुलिस उसके केटरिंग से हॉस्टल तक सफर की कहानी जानने का प्रयास करती रही, लेकिन उसने कोई साफ जवाब नहीं दिया। पुलिस ने उसका मोबाइल फोन जब्त कर उसे जांच के लिए भेज दिया है।

21 लड़कियों से अभी पूछताछ नहीं: हॉस्टल में रह चुकी 21 लड़कियों से फिलहाल पूछताछ नहीं हुई है। पुलिस तथ्यों के आधार पर आगे जांच करेगी। जरूरत पड़ेगी तो सभी लड़कियों के बयान ले लिए जाएंगे।

पिता बोले- मेरा बेटा गलत है, तो उसे सजा दो: अश्वनी के 63 वर्षीय पिता राजेंद्र शर्मा रेलवे से सीनियर सेक्शन इंजीनियर के पद से रिटायर्ड हैं। उन्होंने दैनिक भास्कर से फोन पर बात करते हुए कहा कि अगर उनका बेटा गलत है तो उसे सजा मिलना चाहिए, लेकिन जांच तो पूरी हो। उन्होंने आरोप लगाए कि उनके बेटे को फंसाया जा रहा है।

अश्वनी के घर कभी-कभी कार से आते थे लोग

भोपाल. मूकबधिर युवती से ज्यादती व छेड़छाड़ के आरोपी अंशु उर्फ अश्वनी शर्मा कॉलोनी में किसी से कोई संपर्क नहीं रखता था। कभी-कभी कार से कुछ लोग उसके घर आते थे। यह कहना है क्रिस्टल आइडल पार्क में रहने वालों का। फिलहाल रहवासी अश्वनी के बारे में खुलकर बात करने से बच रहे हैं। जिस बंगले को पुलिस ने सील किया है, वहां पहले मेस चलता था। करीब एक महीने पहले ही वहां दो महिलाएं रहने आई थी, लेकिन वे कुछ नहीं बोलती थी।

पत्नी भोपाल में, लेकिन वो अश्वनी से मिलने नहीं आई: अश्वनी की तीन दिन की रिमांड खत्म होने पर अवधपुरी पुलिस उसे रविवार को न्यायालय में पेश कर देगी। अब तक उसके परिवार से किसी ने न तो उससे और न ही पुलिस से संपर्क किया है। अश्वनी की पत्नी भोपाल में ही रहती हैं, लेकिन उन्होंने भी पुलिस से संपर्क नहीं किया। वे करीब एक साल से अलग रह रहे हैं। उनका नौ साल का एक बेटा है।

X
युवती की शिकायत पर शनिवार रात युवती की शिकायत पर शनिवार रात
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..