मप्र / जीतू पर भाजपा पार्षद को 25 लाख के लिए धमकाने का केस, पूर्व कांग्रेस नेता के नाम की रजिस्ट्री भी मिली

BJP councilor gets threat case for 25 lakh on Jitu, registry of former Congress leader's name also got
X
BJP councilor gets threat case for 25 lakh on Jitu, registry of former Congress leader's name also got

  • सोनी के साथ निखिल कोठारी, आनंद यादव और राजेश जैन के खिलाफ भी प्रकरण दर्ज 

दैनिक भास्कर

Dec 05, 2019, 03:50 AM IST

इंदौर . जीतू सोनी के खिलाफ लगातार मामले सामने आ रहे हैं। बुधवार को लसूड़िया और तुकोगंज पुलिस ने जीतू व अन्य पर तीन और केस दर्ज किए हैं। भाजपा पार्षद मनोज मिश्रा ने 25 लाख  रुपए के लिए धमकाने का केस दर्ज कराया है। वहीं जब्त दस्तावेजों में पूर्व कांग्रेस महासचिव इंदर प्रजापत के नाम की रजिस्ट्री भी मिली है। लसूड़िया पुलिस के अनुसार कंस्ट्रक्शन कारोबारी मो. अली उस्मानी निवासी मदीना नगर की शिकायत पर जीतू सोनी, कारोबारी निखिल कोठारी और आनंद यादव पर फिरौती के लिए धमकाने और जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज किया है।

पुलिस को उस्मानी ने बताया कि होराइजन ओएसिस ग्रीन के मालिक कोठारी के खिलाफ कुछ समय पहले लसूड़िया थाने में धोखाधड़ी का केस दर्ज करवाया था। इसके बाद कोठारी का दोस्त बनकर जीतू और कॉलोनी के प्रोजेक्ट सुपरवाइजर आनंद यादव ने हमारे फ्लैट पर कब्जा कर लिया। कोर्ट ने भी इसे मुक्त करने को कहा, लेकिन आरोपियों ने मुझे और किराएदार आयुषी, सुमित यादव व अन्य लोगों को किराया मुझे न देने व प्रॉपर्टी छोड़ने का बोलकर धमकाया। यादव धमकाता था कि जीतू के आदमियों से उठवा लूंगा। प्रॉपर्टी वापस चाहिए तो 1 करोड़ देना होंगे। नहीं तो जान से मारे जाओगे। 


1.10 करोड़ के फ्लैट की रजिस्ट्री नहीं करवाई, धोखाधड़ी का केस
तुकोगंज पुलिस ने अली उस्मानी की शिकायत पर जीतू सोनी, निखिल कोठारी और उसके ससुर कारोबारी राजेश जैन के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है। उस्मानी के मुताबिक, एक साल पहले उन्होंने साउथ तुकोगंज में कोठारी से होराइजन रेसीडेंसी में फ्लैट खरीदा था। फ्लैट के एवज में बैंक के माध्यम से 1 करोड़ 10 लाख रुपए उसे दे दिए। कोठारी ने फ्लैट की चाबी तो दी, पर रजिस्ट्री नहीं करवाई। रजिस्ट्री का बोला तो जीतू सोनी के जरिए फ्लैट पर कब्जा करने की साजिश शुरू कर दी। वे जब भी शहर से बाहर जाते, सोनी ताला तोड़कर किसी को भी फ्लैट सौंप देता। फ्लैट खाली करने को बोलता तो सोनी की तरफ से धमकी दी जाती। उस्मानी ने बताया कि सोनी की प्रताड़ना को लेकर डेढ़ साल से वे अलग-अलग जगह शिकायतें कर रहे हैं। कोर्ट के आदेश के बाद भी संपत्ति नहीं छोड़ी।

अब तक आठ केस...  दोषी सिद्ध होने पर एक से 10 साल तक की हो सकती है सजा 

केस 1- मानव तस्करी (थाना पलासिया) 
केस में 67 महिलाएं व युवतियां मौके से मिलीं। इनके बयान और मेडिकल चल रहा है। कुछ महिलाओं के कथित पति कोर्ट जा चुके है। पुलिस धारा 164 
में सबसे पहले बयान लेगी। 
अधिकतम सजा- 7 साल 

केस 2- लूट 
(पलासिया थाना)

फरियादी होटल में 20 हजार लूटने के बयान पर अडिग। पुलिस घटनास्थल के फुटेज के आधार पर केस आगे बढ़ाएगी। होटल में पुलिस-प्रशासन की एंंट्री के वक्त हुई घटना को आधार बनाया। 
अधिकतम सजा- 10 साल 

केस 3- धोखाधड़ी (तुकोगंज थाना)
फरियादी के पास हाई कोर्ट का आदेश। पुलिस की रिपोर्ट भी फरियादी के पक्ष में। केस के पुख्ता सबूत होने का पुलिस का दावा। 
अधिकतम सजा-3 साल 
 

केस 4- आईटी एक्ट (एमआईजी थाना)
सीडी, पेन-ड्राइव की जांच, एफएसएल रिपोर्ट से प्रामाणिकता आएगी। अखबार में प्रकाशित कॉपी को भी सबूत बताया। फरियादी हरभजन सिंह के बयान और एफआईआर आधार। 
अधिकतम सजा- 7 साल 

केस 5- आर्म्स एक्ट (कनाड़िया थाना)
लाइसेंसी बंदूक जब्त, लेकिन कारतूस अलग से मिले। 36 जिंदा और 6 चले हुए। कहां चलाए, यह जांच व पूछताछ जारी। प्रशासन ने हथियार का लाइसेंस निलंबित कर दिया है। 
अधिकतम सजा- 3 साल

केस 6,7,8  प्रताड़ना 
(लसूड़िया, तुकोगंज, मल्हारगंज थाना) 

फरियादी के बयान के आधार पर केस दर्ज किया। अभी एक बार फिर बयान होंगे। जांच जारी। अधिकतम सजा- 1 साल

होटल बेस्ट वेस्टर्न के अवैध निर्माण पर आज हाई कोर्ट में सुनवाई
साउथ तुकोगंज स्थित होटल बेस्ट वेस्टर्न में पुलिस पहुंची। यहां ठहरे लोगों से होटल खाली करवाने के लिए कहा। यहां अवैध निर्माण को लेकर निगम के नोटिस पर गुरुवार को हाई कोर्ट में सुनवाई होगी। बुधवार को होटल प्रबंधन ने नोटिस को लेकर कोर्ट में अर्जी दायर की तो महज तीन घंटे में निगम ने जवाब पेश कर दिया। निगम ने इसके साथ मौके के फोटो भी पेश किए हैं, जिसमें यह बताया है कि एक बेसमेंट में पब, दूसरे में कैफेटेरिया सहित हर मंजिल पर बड़े पैमाने पर अवैध निर्माण किया गया है।

पूछताछ में दोस्त ने बताया- मुंबई 
में भी है जीतू की एक और पत्नी

पलासिया पुलिस ने सोनी के साथ रहने वाले करीबी दोस्त को पूछताछ के लिए थाने बुलाया और बुधवार सुबह छोड़ा। उसने पुलिस को बताया कि जीतू के मुंबई में होने की संभावना है। उसकी वहां एक पत्नी और है। वह एक अन्य महिला के भी संपर्क में है। जिस दोस्त ने ये जानकारी दी, उसने भी माय होम में काम करने वाली एक युवती को लिव इन रिलेशनशिप में रखा हुआ है। पुलिस ने उस युवती को भी पूछताछ के लिए बुलाया और बयान लिए। 

एक तिजोरी नहीं खुली, अलमारी से मिले 100 संपत्तियों के दस्तावेज
होटल माय होम में जीतू के ऑफिस से अलमारी में रखी तिजोरी मिली। बुधवार को अधिकारी इसे खोल नहीं सके, लेकिन इसी ऑफिस की एक अलमारी को एसएसपी और सीएसपी ने चेक किया तो उसमें अधिकांश संपत्ति संबंधी दस्तावेज ही थे। बताते हैं  100 से ज्यादा संपत्तियों के दस्तावेज, एग्रीमेंट और स्टाम्प हैं। जिनके भी नाम के ये दस्तावेज हैं, सभी को नोटिस देकर बुलाया जाएगा।

जीतू की गिरफ्तारी के लिए देवास और उज्जैन में पुलिस ने दी दबिश 
एसएसपी रुचिवर्धन मिश्र ने बताया कि एमआईजी थाने में दर्ज आईटी एक्ट केस में फरार इनामी आरोपी जीतू सोनी का बुधवार को गिरफ्तारी वारंट जारी हो गया। उसकी तलाश में देवास, उज्जैन और कुछ अन्य शहरों में दबिश दी है। हमारी टीमें लगी हैं, जल्द गिरफ्तार करेंगे। सोनी की वैध-अवैध संपत्तियों की जानकारी निकालने के लिए निगम अफसरों को चिट्‌ठी लिखी है। जो 35 से ज्यादा रजिस्ट्रियां मिली हैं, उन सभी में क्रेता पक्ष जीतू सोनी और कंपनी है, इसलिए सभी बेचने वाले पक्षों को बुलाकर पूछताछ कर रहे हैं। माय होम स्थित ऑफिस को सील कर दिया है। यहां भी 100 से ज्यादा फाइलें व दस्तावेज मिले हैं। इनकी पड़ताल कर रहे हैं।


रजिस्ट्री में दर्ज संपत्ति मालिकों को पूछताछ के लिए बुलाया 
पुलिस को अब तक मिली 35 रजिस्ट्रियों की जांच में जिन लोगों के नाम पता चले हैं, उनमें कांग्रेस के पूर्व नेता इंदर पिता स्व. मोतीलाल प्रजापत निवासी नलिया बाखल, कृष्णा मिश्रा निवासी सारंग जोधपुर लोटस स्कूल अहमदाबाद, इंद्रजीत सिंह जुनैजा निवासी नलिया बाखल और आनंद प्रेमचंद गोयल निवासी मनोरमागंज हैं। इन सभी को पुलिस नोटिस भेजकर बयान के लिए बुलाएगी और पता करेगी कि ये उन्होंने खुद रखी है या धमकाकर ली गई हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना