भाजपा / लोकसभा चुनाव के लिए हर सीट पर 19 सदस्यों की समिति, बूथ के वाॅट्सएप ग्रुप में होंगे कम से कम सौ लोग

BJP creates a members committee for every Lok Sabha election
X
BJP creates a members committee for every Lok Sabha election

  •  संभाग के पांचों लोकसभा क्षेत्रों को लेकर पार्टी के 70 से ज्यादा नेताओं ने की बड़ी बैठक

Oct 12, 2018, 02:09 AM IST

इंदौर.  अगले साल अप्रैल-मई में होने वाले लोकसभा चुनाव में भले ही अभी काफी वक्त है, लेकिन भाजपा ने इसके लिए तैयारी शुरू कर दी है।  इसी को लेकर गुरुवार को भाजपा की गोपनीय  बैठक हुई। इसमें राष्ट्रीय महामंत्री अनिल जैन, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रदेश प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे दिल्ली से आए। ढाई घंटे चली बैठक में जैन ने लगभग डेढ़ घंटे तक संबोधित किया।

 

उन्होंने कहा कि पार्टी को अभी से तैयारी शुरू कर देना चाहिए। मेरा बूथ-सबसे मजबूत की तर्ज पर काम कर हर बूथ पर एक वाट्स ग्रुप बनाया जाएगा। इस ग्रुप में कम से कम सौ सदस्य जुड़ेंगे। बैठक में संभाग की पांचों लोकसभा सीट (इंदौर, धार, झाबुआ, खंडवा और खरगोन) के 70 से ज्यादा नेताओं को बुलाया गया था। इसमें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के भी पदाधिकारी शामिल थे। उन्हें भी समन्वय का जिम्मा सौंपा गया है। संघ की अलग कमेटी बनाई गई है।

 

खास बात यह रही कि इंदौर सहित पांचों लोकसभा सीटों के लिए 19-19 सदस्यीय संचालन समिति भी बनाई है। इंदौर के लिए देवराजसिंह परिहार को संयोजक और शंकर लालवानी को सह संयोजक बनाया गया है। रामस्वरूप मूंदड़ा, अशोक डागा जैसे उन नेताओं को भी शामिल किया है, जो लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन के करीबी माने जाते हैं। इससे कयास लगाए जा रहे हैं कि इस बार भी महाजन को ही लोकसभा चुनाव में प्रत्याशी बनाया जा सकता है। हालांकि बैठक में इस बात का कोई  जिक्र नहीं हुआ कि प्रत्याशी कौन होगा।
 

मुद्दों का भी जिक्र आया, कैसे जवाब देना है यह भी बताया : बैठक में भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष जीतू जिराती, संभागीय संगठन मंत्री जयपाल सिंह चावड़ा, नगर अध्यक्ष  गोपीकृष्ण नेमा और संघ के प्रांतीय कार्यवाह विनीत नवाते सहित कई नेता मौजूद थे। इस दौरान जैन ने कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान कई ऐसे मुद्दे उठेंगे जिन्हें बढ़ा-चढ़ाकर बताया जाएगा। हमें अभी से तैयारी करना है, ताकि झूठ का जवाब दिया जा सके।

 

सोशल मीडिया और घर-घर संपर्क के जरिये लोगों तक पहुंचें : जैन सिर्फ बैठक के लिए आए थे। वे वापस दिल्ली लौट गए। उसके बाद प्रदेश प्रभारी सहस्त्रबुद्धे ने बैठक ली। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में केंद्र और राज्य सरकारों ने जो विकास कार्य किए हैं, वह लोगों तक पहुंचना बहुत जरूरी है। बस यह करना है कि सोशल मीडिया और घर-घर संपर्क के जरिये लोगों तक पहुंचें। उन लोगों को भी सामने लाएं, जिन्हें केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं का फायदा मिला।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना