--Advertisement--

देवर ने की भाभी से शादी, देखें हितेष और गायत्री के शादी का एलबम

देवर ने की भाभी से शादी, देखें हितेष और गायत्री के शादी का एलबम

Danik Bhaskar | Dec 11, 2017, 04:22 PM IST
देवर हितेष ने भी अपने पिता के इ देवर हितेष ने भी अपने पिता के इ

इंदौर। उज्जैन जिले के नागदा में सोमवार को सैकड़ों लोग एक सामाजिक बदलाव के साक्षी बने। यहां एक पिता ने अपने बेटे की मौत के बाद बहू को टूटने नहीं दिया। उन्होंने अपने छोटे बेटे से बहू की शादी करवाई। देवर हितेष ने भी अपने पिता के इस निर्णय पर गर्व करते हुए भाभी गायत्री के साथ सात फेरे लिए।

माता पूजन से लेकर मंडप तक सभी रीति-रिवाज से हुआ

- सोमवार शाम हुई इस शादी की तैयारी महीनों पहले से शुरू हो गई थी। इसके लिए दूल्हन के जोड़े से लेकर दूल्हे की शेरवानी तक स्पेशल रूप से तैयार करवाई गई। सोमवार सुबह दूल्हा हितेष और दुल्हन गायत्री माता पूजन करने मंदिर पहुंचे। इसके बाद दोपहर तीन बजे मंडप का कार्यक्रम आयोजित किया गया। मंडप के बाद शाम 4 बजे दुल्हन को विवाह स्थल पर परिजन लेकर पहुंचे और इधर दूल्हे के बरात निकालने की तैयारियां शुरू हो गईं। शाम पांच बजे हितेष घोड़ी पर सवार होकर गायत्री को ब्याहने निकला। बरात में परिजनों ने जमकर डांस किया। विवाह स्थल पर बरातियों की अगवान की बाद दूल्हे को स्टेज पर ले जाया गया। कुछ देर बाद गायत्री को भी स्टेज पर लाया गया और फिर जयमाला का कार्यक्रम संपन्न हुआ। इसके बाद पंडितों ने रीति-रिवाज से गायत्री और हितेष का विवाह संपन्न करवाया।

हादसे में हो गई थी बड़े बेटे की मौत

- 17 फरवरी 2012 को बिजनेसमैन राजेंद्र चौधरी के बड़े आईटी इंजीनियर सुमित का विवाह बखतगढ़ के जाट परिवार की गायत्री से किया हुअा था। 2 जून 2014 को सुमित की हादसे में मौत हो गई। पिता के सपने तो टूटे ही बहू और 7 माह की पोती धनवी के भविष्य पर भविष्य भी खो गया। बेटे को खोने के बाद राजेंद्र ने बहू को संभाला और उसे कॉलेज करवाया। उन्होंने पोती के भविष्य को देखते हुए छोटे बेटे से बहू की शादी करवाने का निर्णय लिया। पिता के इस फैसले को बेटे ने भी खुशी से कबूल लिया।

आगे की स्लाइड्स पर देखें बरात निकलने से लेकर शादी तक के फोटोज...