Hindi News »Madhya Pradesh News »Indore News» Delhi Vs Vidarbha Final Ranji Trophy 2017 18 Holkar Stadium Indore Mp

८३ साल के इतिहास में नहीं हुआ ऐसा, गुरबानी की हैट्रिक के साथ हुआ यह कारनामा

८३ साल के इतिहास में नहीं हुआ ऐसा, गुरबानी की हैट्रिक के साथ हुआ यह कारनामा

Rajeev Tiwari | Last Modified - Dec 30, 2017, 12:43 PM IST

इंदौर।टीम इंडिया के लकी स्टेडियम में से एक इंदौर के होल्कर स्टेडियम में एक शनिवार को एक और कारनामा देखने को मिला। यहां शुक्रवार से दिल्ली और विदर्भ के बीच रणजी ट्रॉफी फाइनल मैच खेला जा रहा है। मैच शुरू होने के साथ ही होलकर स्टेडियम ने एक इतिहास अपने नाम दर्ज कर लिया। इंदौर में साल का दूसरा रणजी फाइनल मैच खेला जा रहा है 83 साल के इतिहास में किसी भी स्टेडियम में नहीं खेला गया है। वहीं दूसरे दिन शनिवार को विदर्भ के तेज गेंदबाज रजनीश गुरबानी ने दिल्ली के खिलाफ इस स्टेडियम में हैट्रिक लेकर एक और कीर्तिमान दर्ज करवा दिया।



- होलकर स्टेडियम में शुक्रवार से दिल्ली और विदर्भ के बीच 84वां रणजी ट्रॉफी फाइनल मैच शुरू हुआ। इसी साल जनवरी में मुंबई और गुजरात के बीच 2016-17 सीजन का रणजी फाइनल खेला गया था। इसमें गुजरात ने 5 विकेट से मुंबई पर जीत दर्ज की थी। होलकर स्टेडियम में एक ही साल में रणजी के दो फाइनल मैच खेले गए, जो कि 83 साल के रणजी ट्रॉफी इतिहास में किसी भी अन्य स्टेडियम में नहीं हुए। गौरतलब है कि इंदौर का होलकर स्टेडियम रणजी, टी-20, वनडे और टेस्ट सभी प्रकार के मैच हो चुके हैं।

तेज गेंदबाज रजनीश ने लिया हैट्रिक
- होलकर क्रिकेट स्टेडियम में शनिवार को दूसरे दिन रणजी ट्रॉफी फाइनल में विदर्भ के तेज गेंदबाज रजनीश गुरबानी ने दिल्ली के खिलाफ हैट्रिक लेकर कमाल कर दिया है। गुरबानी ने अपनी हैट्रिक के दौरान दिल्ली के विकास मिश्रा, नवदीप सैनी और कुलवंत को बोल्ड किया। गुरबानी ने 150 रन के करीब खेल रहे ध्रुव शौरे को अपना शिकार बनाया। रजनीश गुरबानी ने 69 रन देकर छह विके​ट लिए और अपनी विरोधी टीम को सिर्फ 295 रन पर ही समेट दिया। पहले दिन के 271 रन से आगे खेलते हुए दिल्ली की टीम मात्र 24 रन ही जोड़ पाई और 295 रन बनाकर आउट हो गई।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Indore

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×