--Advertisement--

अवैध हथियार गिरोह पकड़ाया, १० पिस्टल और ९ कारतूस बरामद

अवैध हथियार गिरोह पकड़ाया, १० पिस्टल और ९ कारतूस बरामद

Danik Bhaskar | Jan 25, 2018, 04:36 PM IST

इंदौर। क्राइम ब्रांच ने जूनी इंदौर पुलिस के साथ मिलकर पिस्टल-कट्टे सप्लाय करने वाले सिकलीगर सहित खरीदारों को पकड़ा है। उनके पास से 10 पिस्टल-कट्टे सहित 9 जिंदा कारतूस मिले। सिकलीगर इंदौर-उज्जैन के अलावा महाराष्ट्र, राजस्थान, गुजरात, उत्तर प्रदेश में हथियारों की सप्लाय करते थे।


एएसपी क्राइम ब्रांच अमरेंद्र सिंह ने बताया कि टीम को जानकारी मिली थी कि गंधवानी, धार का सिकलीगर अवैध रूप से हथियार बनाकर इंदौर के आसपास के क्षेत्रों में बेच रहा है। वह इंदौर में हथियारों की डिलवरी देने के लिए आ रहा है। टीम ने सिकलीगर अकाल सिंह को पकड़ा। उसके पास से थैले में एक कट्टा, पिस्टल और जिंदा कारतूस मिली। पूछताछ में उसने हथियार बनाकर लोगों को बेचने स्वीकार किया। सिकलीगर के आधार पर टीम ने भौंरासला काकड़, बाणगंगा के छोटेलाल उर्फ विक्का भाऊ पिता उत्तमराव कादते, पटेल कॉलोनी निवासी विशाल पिता राजू मेवाती, रॉयल पैलेस कॉलोनी निवासी रशीद पिता इस्माइल पठान, ग्राम नागदा निवासी लखन पिता दिलीप गौसर को गिरफ्तार किया है।

- खरीदारों में कोई हत्या के मामले में सजा काट चुका तो कोई जमानत पर जेल से छूटा था
पूछताछ में पता चला छोटेलाल खेती व पशु पालन का काम करता है। उस पर अलग-अलग थानों में हत्या, हत्या के प्रयास, मारपीट सहित अन्य मामले दर्ज हैं। वह हत्या के मामले में 10 साल की सजा काट चुका है। उससे पिस्टल-कट्टा और जिंदा कारतूस मिला है। वहीं विशाल अस्पताल में साफ-सफाई का काम करता है। उसके पास से पिस्टल-कट्टा और जिंदा कारतूस मिले है। रशीद के पास से पिस्टल-कट्टा और जिंदा कारतूस मिला। वह ट्रैक्टर-ट्राली किराए पर चलाने का काम करता है और शौकिया तौर पर अवैध हथियार रखता था। एएसपी चौहान ने बताया कि लखन से पूछताछ में पता चला कि 2017 में नागदा में हुई हत्या के मामले में वह न्यायालय से जमानत पर है। उसके पास से कट्टा-पिस्टल और कारतूस जब्त किया है। सभी आरोपियों के पास से टीम ने 10 पिस्टल-कट्टे सहित 9 जिंदा कारतूस बरामद किए है। टीम को जानकारी मिली है कि और लोगों को भी सिकलीगर से हथियार सप्लाई किए है। जिनकी जानकारी उन्हें मिली है। जल्द ही और भी लोगों को पकड़ा जाएगा।