--Advertisement--

१४ साल की लड़की से धर्म बदला निकाह किया, मां बनाया, ऐसी है रुलाने वाली ये कहानी

१४ साल की लड़की से धर्म बदला निकाह किया, मां बनाया, ऐसी है रुलाने वाली ये कहानी

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2018, 10:49 AM IST
शाजापुर पुलिस के पास एक नाबालि शाजापुर पुलिस के पास एक नाबालि

इंदौर, (शाजापुर)। शाजापुर में एक नाबालिग को बंधक बनाकर जबरन शादी करने का मामला सामने आया है। कन्नौद की 14 साल की नाबालिग को युवक ने झांसे में लिया और नए कपड़े दिलाने के बहाने उज्जैन ले गया। यहां उसे अपने घर में नाम बदलकर आयशा किया और बंधक बनाकर रखा उसके हाथ पर गुदा धार्मिक चिह्न मिटाने के लिए हाथ पर एसिड डाल दिया और शादीशुदा होने के बाद भी उससे निकाह किया। कच्ची उम्र में ही उसे मां बना दिया। चार साल की जिल्लत की जिंदगी के बाद जैसे-तैसे किशोरी वहां से भागी और शाजापुर पहुंच गई। यहां हिंदू संगठन के कार्यकर्ता ने उसे हाईवे किनारे सिसकते देखा। कारण पूछा तो युवती की बात सुन रोंगटे खड़े हो गए।

घर के पास चाय की दुकान पर आता था, कपड़े दिलाने के बहाने ले गया...

- पीड़िता ने बताया घर के पास चाय की दुकान पर राजा उर्फ आसिफ अकसर आता था। बहाने से वह मुझसे बात करने लगा और झांसे में लेकर नए कपड़े दिलाने का कहकर एक दिन मुझे उज्जैन ले गया। उसके बेगमबाग उज्जैन स्थित घर ले जाकर में बंधक बना लिया। वह पहले से शादीशुदा था। एक साल तक बंधक बनाकर मेरे साथ मारपीट करता रहा।

-बाद में दबाव बनाकर मेरा नाम बदलकर आयशा कर दिया। मेरी पुरानी पहचान मिटाने के लिए राजा ने मेरे हाथ पर गुदा हुआ ओम का चिह्न मिटाने के लिए हाथ पर एसिड डाल दिया। मेरी पहचान आयशा के रूप में कराते हुए जबरदस्ती उसने मुझसे निकाह कर लिया। दो साल पहले एक बेटा भी हुआ है।

- बावजूद राजा, उसकी पत्नी और भतीजा मेरे साथ मारपीट करते। 9 जनवरी को कपड़े सिलाई पर डालने के बहाने घर से निकली और भागकर शाजापुर आ गई। मामले को लेकर हिंदू संगठन के कार्यकर्ता किशोरी को लेकर एसपी शैलेंद्रसिंह चौहान के पास पहुंचे। देररात कोतवाली पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर जीरो पर कायमी की और डायरी देवास भेज दी। आगे की जांच देवास पुलिस द्वारा की जाएगी। मामला 2013 का बताया जा रहा है। लड़की कन्नौद थाने के पास के गावं खरदलीखेड़ा की रहने वाली है।

मप्र धर्म स्वतंत्रता अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज
- वर्ष 2014-15 के बीच पीड़िता का धर्म बदल दिया गया। उसके हाथ पर बने धार्मिक चिह्न को मिटाने के लिए एसिड से जलाने के निशान भी युवती ने बताए। कई बार तो इतनी मारपीट होती थी कि पड़ोस में रहने वाली महिलाओं ने बचाया। पुलिस ने मामले में मप्र धर्म स्वतंत्रता अधिनियम के तहत 4/3 और 363 में प्रकरण दर्ज कर लिया है।

पीड़िता ने राजा सहित दो अन्य पर लगाए आरोप
- मामले में पुलिस द्वारा दर्ज की गई रिपोर्ट में पीड़िता ने राजा के साथ उसके भतीजे अजहर पिता फिरोज और उसकी पत्नी फातिमा पर कई गंभीर आरोप लगाए। धर्म बदलने और ज्यादती होने तक के सभी अपराधों में दोनों शामिल होना बताया।

बच्चे को लेकर आशंकित
- यातनाओं से तंग आकर भागी किशोरी का दो साल बेटा भी है, लेकिन भागने के दौरान वह उसे घर पर ही छोड़ आई। पीड़िता बताती है कि बच्चे के साथ अब पता नहीं क्या होगा। शाजापुर पुलिस ने उसे आश्वस्त किया कि पुलिस हरसंभव कार्रवाई करेगी।

देवास पुलिस को भेजी डायरी
- मामला सामने आने पर पीड़िता के बयानों के आधार पर प्रकरण दर्ज कर डायरी देवास पुलिस को भेज दी। आगे की जांच वहीं होगी। -ज्योति सिंह ठाकुर, एएसपी शाजापुर

X
शाजापुर पुलिस के पास एक नाबालिशाजापुर पुलिस के पास एक नाबालि
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..