Hindi News »Madhya Pradesh News »Indore News» Girl Committed Suicide After Soldier Fiance Death In Dewas

श्रीनगर में फौजी की मौत के बाद फंदे पर झूली मंगेतर, ४ दिन से थी गहरे सदमे में

श्रीनगर में फौजी की मौत के बाद फंदे पर झूली मंगेतर, ४ दिन से थी गहरे सदमे में

Rajeev Tiwari | Last Modified - Dec 09, 2017, 12:35 PM IST

इंदौर। दिवंगत सैनिक नीलेश धाकड़ की मौत के चार दिन बाद उसकी मंगेतर ने भी फांसी लगाकर जान दे दी। मंगेतर रानी उसकी मौत की खबर के बाद से ही गहरे सदमे में थी। उसने खाना-पीना तक छाेड़ दिया था। शनिवार अलसुबह जब सारे लोग सो रहे थे तब उसने पीछे बने बाड़े में जाकर फांसी लगा ली। सुबह भाई ने देखा तो बहन लोहे की रॉड से लटक रही थी। उसे इस हाल में देख भाई चीखते हुए भागा और अन्य लोगों को जानकारी दी। दोनों की शादी अगले साल 28 अप्रैल को होनी थी।



- टीआई बीएस गोरे ने बताया कि बरखेड़ा सोमा निवासी रानी पिता मनोहरलाल धाकड़ की शादी दिवंगत सैनिक नीलेश धाकड़ से होनी थी। मनोहरलाल की दो बेटियां ज्योति और रानी हैं और बेटा नीलेश है। मंगेतर की मौत के बाद से ही उसका रो-रोकर बुरा हाल हो गया था। शनिवार सुबह करीब 5 बजे उसने घर के पीछे बने बाड़े में जाकर फांसी लगा ली।


- रानी के चचेरे भाई दशरथ ने बताया कि मंगेतर नीलेश की मौत की सूचना लगते ही रानी सदमे में चली गई थी। उसने खाना-पीना भी नहीं के बराबर कर दिया था। उसकी यह हालत देख हमें डर था कि वह कहीं कोई गलत कदम ना उठा ले, इसलिए उसे लगातार सदमे से बाहर निकालने की कोशिश कर रहे थे। हमेशा चहकने वाली रानी चार दिन से गुमसुम थी। शनिवार सुबह पिताजी खेत पर चले गए थे और मां काम कर रही थी।


- भाई नीलेश जब सोकर उठा और पीछे गया तो बहन रानी बाड़े में फंदे पर झूल रही थी। उसे इस हाल में देख घबराया भाई चीखते हुए बाहर अाया। मां ने उससे पूछा तो उसने रोते हुए बहन के फांसी में लटके होने की बात कही। यह सुनते ही मां बदहवास हो गई। चीख सुन अन्य परिजन घर पर पहुंचे और पिता को सूचना दी। दशरथ ने बताया कि उसके भाई और बहन की शादी हो चुकी थी। बेटी की शादी को लेकर पूरा परिवार उत्साहित था, लेकिन हमारे सपने चकनाचूर हो गए।

मंगेतर नीलेश की चार दिन पहले मौत हुई थी
- देवास के घिचलाय के रहने वाले सेना के जवान नीलेश धाकड़ की मंगलवार को श्रीनगर में एक हादसे में गोली लगने से मौत हो गई थी। गुरुवार शाम को सैन्य सम्मान के साथ गांव में ही उसका अंतिम संस्कार हुआ था। परिजनों ने नीलेश की मौत की सूचना जब बेटी को बताई तो वह सदमें में चली गई थी। परिजनों ने उसे खूब समझाया, लेकिन वह सदमे से बाहर ही नहीं आ पा रही थी। संभवत: इसी कारण उसने मौत को गले लगा लिया।




दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Indore News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: shringar mein fauji ki maut ke baad fnde par jhuli mangetar, 4 din se thi gahare sdme mein
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Indore

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×