--Advertisement--

कमरे से चूहामार दवाई खाकर निकले पति-पत्नी, आंगन में बेहोश होकर गिरे

कमरे से चूहामार दवाई खाकर निकले पति-पत्नी, आंगन में बेहोश होकर गिरे

Danik Bhaskar | Mar 09, 2018, 05:54 PM IST
अस्पताल में उपस्थित परिजन। अस्पताल में उपस्थित परिजन।

बड़वानी/इंदौर। बड़वानी जिले के नानी बड़वानी में पति-पत्नी ने शुक्रवार को चूहामार दवाई खाकर जान देने की कोशिश की। हालत बिगड़ने पर परिजन दोनों को जिला अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां दोनों की हालत गंभीर बनी हुई है। दंपति ने आत्महत्या करने जैसा कदम क्यों उठाया फिलहाल इसका खुलासा नहीं हो पाया है। पुलिस को युवक की मां ने बताया दवाई खाकर दोनों कमरे से बाहर निकले और बेसुध गिर पड़े।

- पुलिस के अनुसार अजय पिता भागीरथ और रोशनी पति अजय ने शुक्रवार को घर में चूहामार दवाई खा ली। दोनों चूहामार दवाई खाकर कमरे से बाहर निकले और आंगन में गिर पड़े। इनकी हालत बिगड़ती देख युवक की मां अन्य परिजनों के साथ दोनों को जिला अस्पताल लेकर पहुंचे।

परिजनों ने पुलिस को बताया कि रोशनी अजय की दूसरी पत्नी है।

-पुलिस पूछताछ में भी दोनों ने कुछ नहीं बताया। हालांकि परिजनों का भी कहना है कि घर में भी किसी तरह की कोई विवादित स्थिति नहीं बनी थी। दोनों ने ये कदम किस कारण उठाया, कुछ पता नहीं।


युवक पहले से था शादीशुदा
- युवक की मां सुमनबाई ने बताया बेटी की शादी हो चुकी है और उसकी एक 6 माह की बेटी भी है। वह करीब पांच माह पहले बंधान निवासी युवती को लेकर गुजरात भाग गया था, जिसे तीन दिन पहले ही गुजरात से घर वापस लाए थे। युवक की मां ने बताया बेटे के घर से गायब होने के बाद उसकी कोतवाली में गुमशुदगी भी दर्ज कराई गई थी।


यह हो सकता है घटना का कारण
- पति-पत्नी के साथ अस्पताल आए परिजनों ने बताया कि शुक्रवार को रोशनी के परिवार वाले नानी बड़वानी आए थे। ससुरालवालों से अजय की कुछ बहस हो गई थी, हो सकता है कि इसी बात को लेकर दोनों ने ये कदम उठाया हो।


पति ने छोड़ दिया था साथ, लेकिन पत्नी ने दुख में भी नहीं छोड़ा
जानकारी के अनुसार अजय की पहली पत्नी बसंतीबाई घटना के समय बकरी चराने के लिए गई थी। अजय ने दूसरी पत्नी के चक्कर में बसंतीबाई को छोड़कर गुजरात चला गया था। लेकिन बसंतीबाई ने पति की दुख की घड़ी में भी साथ नहीं छोड़ा। वह पूरे समय पति के साथ अस्पताल में रही और उसकी दिलासा देती रही।