--Advertisement--

टी -२० मैच : जानें कैसा होगा पिच का मिजाज, टॉस जीतने वाले को होगा ये फायदा

टी -२० मैच : जानें कैसा होगा पिच का मिजाज, टॉस जीतने वाले को होगा ये फायदा

Dainik Bhaskar

Dec 22, 2017, 12:17 PM IST
भारत और श्रीलंका के बीच होने व भारत और श्रीलंका के बीच होने व

इंदौर। होलकर स्टेडियम में शुक्रवार शाम 7 बजे से होने वाले  भारत-श्रीलंका के खिलाफ टी-20 मैच में टॉस अहम भूमिका निभाएगा। टॉस जीतने वाली टीम को यहां काफी फायदा होने वाला है। रनों के हिसाब से एक बार फिर होलकर की पिच बल्लेबाजों के लिए माकूल है। यहां हार बार की तरह अच्छे रन बनेंगे।

 

 

इंदौर अब ऐसा शहर हो जाएगा जहां क्रिकेट के सभी फॉर्मेट- रणजी ट्रॉफी, वन-डे, टेस्ट और टी-20 मैच खेले गए हों। होलकर स्टेडियम भी 13 महीने में टेस्ट से टी-20 मैच तक का आयोजक बनकर क्रिकेट वेन्यू के रूप में पूरा हो जाएगा। इंदौर के दोनों स्टेडियम में अब तक 14 वन-डे, रणजी ट्रॉफी के कुछ मैच व चार फाइनल, एक टेस्ट और पांच आईपीएल मैच हो चुके हैं।

 

 

क्या कहती है इस बार की पिच
- होलकर स्टेडियम की पिच रनों की बारिश के लिए विख्यात है। ठंड के कारण रात में ओस गिरती है। ऐसे में शुक्रवार को मैच के दौरान गेंद काफी गीली होगी। गेंद गीली होने से गेंदबाज को ग्रिप नहीं मिलती और सही टप्पे पर नहीं पड़ती। वहीं, बल्लेबाज को शॉट मारने में आसानी होती है। विशेषकर दूसरी पारी में फील्डिंग करने वाली टीम नुकसान में रहती है। इसलिए यहां जो टीम टॉस जीतेगी उसे काफी फायदा होने वाला है।

 
फायदे का भी सौदा है इंदौर में मैच करवाना
- किसी भी सेंटर को अंतरराष्ट्रीय मैच की मेजबानी से वित्तीय रूप से फायदा होता है। बीसीसीआई मेजबान सेंटर को टेस्ट मैच के लिए 2.8 करोड़ और वन-डे व टी-20 मैच के लिए 1.5 करोड़ रु. देता है। इसके अलावा बीसीसीआई सेंटर को सालाना 25 करोड़ का फंड भी देता है।


34 साल पहले पहला मैच, अब तक 14 हुए
इंदौर में पहला वन-डे मैच नेहरू स्टेडियम में 1 दिसंबर 1983 को भारत-वेस्टइंडीज के बीच खेला गया। इसी स्टेडियम में आखिरी वन-डे 31 मार्च 2001 को भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच हुआ था
 

X
भारत और श्रीलंका के बीच होने वभारत और श्रीलंका के बीच होने व
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..