Hindi News »Madhya Pradesh News »Indore News» Kanyakumari Road Accident, Six People Died And Six Injured

कन्याकुमारी हादसा : एक गलती से कई फीट नीचे खाई में गिरी ट्रेवलर, ऐसे गई ६ की जान

कन्याकुमारी हादसा : एक गलती से कई फीट नीचे खाई में गिरी ट्रेवलर, ऐसे गई ६ की जान

Rajeev Tiwari | Last Modified - Jan 17, 2018, 03:50 PM IST

कन्याकुमारी हादसा : एक गलती से कई फीट नीचे खाई में गिरी ट्रेवलर, ऐसे गई ६ की जान

इंदौर।तमिलनाडु के तिरुनेलवेली में मंगलवार रात हुए एक भीषण सड़क हादसे में इंदौर और उज्जैन के 6 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 6 लोग घायल हैं। ये सभी लोग तीर्थयात्रा पर रामेश्वरम गए थे। ये देर रात ट्रेवलर से मदुरै से कन्याकुमारी जा रहे थे। तलाईपुरा के पास इनकी गाड़ी अनियंत्रित होकर ब्रिज से टकराई और कई फीट नीचे खाई में जा गिरी। हादसे के बाद ट्रेवलर के बाहर शव फिंका गए थे। पुलिस ने घायलों को इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया।



हादसे में मौत

- पलसीकर निवासी बेटे हेमंत सेलवानी ने बताया कि हादसे में सराफा व्यापारी पिता कन्हैयालाल सेवलानी, मां रेखा, उज्जैन निवासी मामा रमेश पोहा नी, मामी विद्या, उज्जैन के लालचंद समतानी और टीकम समतानी की मौत हो गई। वहीं घायलों में तुलसी, चंद्रा, सुनीता, सारा ला, सोनम और जी मुथुकामाट्ची शामिल हैं।

- हेमंत ने बताया कि हम तीन भाई, दीपक, नरेश और मैं, हैं। हमारी बजाज खाना चौक पर ज्वैलरी की शॉप है। शनिवार को वे रिलेटिव के साथ रामेश्वर के लिए निकले थे। मंगलवार रात करीब दो बजे उनकी ट्रेवलर मदुरै से कन्याकुमारी जा रहा थी। तमिलनाडु के तिरुनेलवेली जिले थालावाइपुरम के पास गाड़ी ब्रिज से नीचे जा गिरी। हादसे में माता-पिता सहित 6 लोगों की मौत हो गई, जबकि 6 घायलों को तिरुनेलवेली के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पिता के जन्मदिन पर घर आया बेटा, दो दिन बाद आई मौत की खबर
- उज्जैन के महाकाल सिंधी कॉलोनी में रहने वाले टीकमदास और लालचंद सगे भाई हैं। टीकमदास फ्रूट व्यापारी थे। इनकी फ्रीगंज में शॉप है। एक बेटा मोहित दुबई में नौकरी करता है। वहीं दूसरा बेटा कमलेश इनके साथ काम करता था। लालचंद के भी दो बेटे लेखराज और भरत हैं। दोनों भाई विदेश में जाॅब करते हैं। 12 जनवरी को पिता के जन्मदिन पर लेखराज उज्जैन आया था। 13 जनवरी को पिता तीर्थयात्रा पर निकले थे।


- गोवर्धनधाम कॉलोनी में रहने वाले रमेश और उनकी पत्नी की भी हादसे में मौत हो गई है। रमेश का उज्जैन में रेडिमेड गारमेंट की शॉप थी। वे अपने रिलेटिव के साथ यात्रा पर गए थे।

मां की हालत गंभीर, आईसीयू में भर्ती है
- घायल तुलसी डेटानी के बेटे पंकज ने बताया कि 13 जनवरी को उज्जैन से चेन्नई की ट्रेन से निकले थे। यहां रामेश्वरम मेले में गुरुजी का कार्यक्रम था, जिसमें से शामिल होने ये लोग गए थे। यहां से ये 21 को बालाजी दर्शन की बुकिंग थी। 22 की रात को ये वहां से भोपाल के लिए रवाना होने वाले थे। मंगलवार रात करीब दो बजे मदुरै से कन्याकुमारी के लिए निकले थे। जहां इनकी ट्रैवल ब्रिज से टकराकर खाई में जा गिरी।

दूसरे व्यापारियों से किया था चलने का आग्रह
- बजाजखाना चौक में पूर्णिमा ज्वेलर्स से सटी श्री गणेश ज्वेलर्स के संचालक शुभम सोनी ने बताया कि रामेश्वरम जाने वाले दिन ही कन्हैयालाल उनके पास आए थे। वे काफी खुश थे और बाकी व्यापारियों से भी यात्रा पर चलने का कह रहे थे। वे एक महीने से यात्रा की तैयारी कर रहे थे।

कल आएंगे शव
- हादसे की जानकारी मिलते ही बजाजखाना चौक के ज्वेलर्स और अन्य व्यापारी तुरंत सेवलानी के घर पहुंचे। वहां से वे कलेक्टर कार्यालय गए और कलेक्टर निशांत वरवड़े से मृतकों के शव दौर लाने के संबंध में चर्चा की। लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से भी चर्चा की। व्यापारियों के मुताबिक गुरुवार को मृतकों के शव यहां आ सकते हैं।


दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Indore

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×