--Advertisement--

रूपादास ने ६० साल की उम्र में रचाया ब्याह, ८ दिन बाद कहानी में आया ये ट्विस्ट

रूपादास ने ६० साल की उम्र में रचाया ब्याह, ८ दिन बाद कहानी में आया ये ट्विस्ट

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2018, 04:52 PM IST
मंदसौर के रहने वाले रूपदास बैर मंदसौर के रहने वाले रूपदास बैर

इंदौर. (धार)। शहर के रिटायर्ड बिजलीकर्मी से शादी करने के बाद 3 लाख रुपए व जेवरात लेकर भागी महिला को पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार किया है। महिला ने पूजा नाम बता कर शादी की थी, उसका वास्तविक नाम हेमा निकला। महिला समेत शादी करवाने वाले और दुल्हन के भाई का किरदार निभाने वाले युवक पर भी पुलिस ने केस दर्ज किया है। इनके पास से धोखाधड़ी कर हड़पे गए रुपए और जेवरात में से मात्र 10 हजार रुपए और एक बिछुड़ी मिली है।

इस तरह है शादी की पूरी कहानी...
- मंदसौर के रहने वाले रूपदास बैरागी (60) बिजली कंपनी से रिटायर्ड होने के बाद नौगांव की सांईधाम कॉलोनी में घर बना कर रह रहे थे। उनकी पत्नी वंदना का निधन 1992 में हो गया था। बच्चे भी नहीं होने से देखभाल करने वाला कोई सगा नहीं था। बुढ़ापे के सहारे के लिए दूसरी शादी करने का फैसला कर मित्रों से चर्चा की तो एक मित्र ने गुलवा के अशोक प्रजापत का नंबर दिया।

- 18 नवंबर 2017 को अशोक से बात करने पर उसने ब्राह्मण परिवार की 40-45 साल की विधवा महिला होने की बात कही। 20 नवंबर को अशोक एक महिला को लेकर आया, जिसका नाम पूजा बताया। उसके साथ एक और युवक था, जिसका नाम जितेंद्र बताया। बैरागी ने घर-परिवार के बारे में जानना चाहा तो अशोक बोला किसी प्रकार की चिंता की जरूरत नहीं है।

- 22 नवंबर को जितेंद्र, अशोक महिला को लेकर आया। आश्रम के सामने संतोषी माता मंदिर में मांग में सिंदूरभर कर शादी कर ली। पूजा को बैरागी घर ले आए। घर व अलमारी की चाबी सौंप दी। 29 नवंबर को जब बैरागी दूसरी मंजिल पर घर की सफाई कर रहे थे, तब उन्होंने पूजा को आवाज लगाई। कोई जवाब नहीं आया। नीचे जाकर देखा तो अलमारी खुली पड़ी थी। उसमें से गृह प्रवेश कार्यक्रम के लिए रखे 3 लाख रुपए नकद व लगभग एक लाख रुपए के सोने-चांदी के आभूषण गायब थे।

- बैरागी ने अशोक को फोन लगाया तो वह तब से अब तक टालता रहा कि मैं जल्द रुपए व जेवरात वापस दिलवा दूंगा। बैरागी ने पुलिस में शिकायत की तो अशोक को हिरासत में लिया गया। पूछताछ करने पर पता लगा कि महिला का कोई एक ठिकाना नहीं है। केवल मोबाइल नंबर है। पुलिस ने अशोक की पत्नी से महिला को फोन करवा कर कहलवाया कि अशोक बीमार है। घर मिलने बुलाया। महिला गुलवा पहुंची तो उसे हिरासत में ले लिया और धार लेकर आए। उधर, अशोक को भी गिरफ्तार किया गया। महिला के भाई बनने वाला जितेंद्र फरार है। महिला व अशोक के पास से 5-5 हजार रुपए ही मिले हैं। जेवरात के नाम पर एक बिछुड़ी ही बरामद हुई।
- सीएसपी शशिकांत कनकने ने बताया कि महिला व उसकी शादी करवाने वाले युवक को गिरफ्तार किया है। भाई बनने वाले की तलाश जारी है। रिमांड लेकर रुपए और गहनों के बारे में पूछताछ करेंगे।

X
मंदसौर के रहने वाले रूपदास बैरमंदसौर के रहने वाले रूपदास बैर
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..