Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» National Girl Child Day Special Story Indore Mp

कुछ ऐसी है इस मॉडल की कहानी, सुन-बोल नहीं सकती पर ऐसे पाया ये मुकाम

सीकर की रहने वाली फूलमती लामोरिया जन्म से सुन-बोल नहीं सकती, लेकिन अपनी मेहनत से उसने अपना कॅरियर बनाया।

dainikbhaskar.com | Last Modified - Jan 24, 2018, 12:56 PM IST

  • कुछ ऐसी है इस मॉडल की कहानी, सुन-बोल नहीं सकती पर ऐसे पाया ये मुकाम
    +9और स्लाइड देखें
    सीकर की रहने वाली 28 साल की फूलमती लामोरिया जन्म से सुन-बोल नहीं सकती।

    इंदौर। ये लड़कियां हैं जुदा-जुदा और इनका हुनर भी है अलहदा। अपने इसी हुनर के बेहतरीन प्रदर्शन से ये कामयाबी की नई इबारतें लिख रही हैं। इनमें हर विपरीत परिस्थितियों से लड़ने की भरपूर ताकत है और वह जोश भी है जो उन्हेें नया आसमान छूने के लिए उछाल देता है। इनकी कामयाबी के रास्ते में न गरीबी आड़े आती है न अभाव बाधा पैदा करते हैं, न कोई कमजोरी ही। एक ऐसा ही नाम है मॉडल फूलमती लामोरिया का। नेेशनल गर्ल चाइल्ड डे पर dainikbhaskar.com बता रहा है फूलमती की स्टोरी...



    - फूलमती लामोरिया सुन-बोल नहीं सकती, लेकिन उसने खुद को उन दायरों में नहीं बांधा, जिनमें मूक बधिरों को अक्सर बांध दिया जाता है। फूलमती ने पढ़ाई की, खुद को इस काबिल बनाया कि वह कहीं जॉब कर सके। इंटरप्रेटर की मदद से हमने फूलमती से बात की। उसने कहा - मुझे बीइंग ह्यूमन स्टोर में काम मिल गया। अपनी पढ़ाई का खर्च मैंने इस तरह निकाला। मॉडलिंग करने की चाह थी मुझे, लेकिन जब यह समझने लगी कि मैं मूक बधिर हूं तब लगा यह सपना अधूरा ही रह जाएगा, लेकिन कुछ दोस्तों ने इस चाहत को परवाज़ दी। पेरेंट्स ने सपोर्ट किया। मैंने मिस डेफ इंडिया पेजेंट में पार्टिसिपेट किया और जीती।

    चार भाई बहनों में बस फूलमती बोल सुन नहीं सकती
    - 28 साल की फूलमती लामोरिया जन्म से सुन-बोल नहीं सकती। रहने वाली सीकर की हैं, लेकिन वर्ष 2005 से इंदौर डेफ बायलिंग्वल एकेडमी से पढ़ाई कर रही हैं। उन्होंने बताया कि मेरे चार भाई-बहन हैं। सब सुन बोल सकते हैं। पहले मुझे अपनी इस कमी से बहुत तकलीफ होती थी। सीकर में कोई बच्चा मेरी तरह नहीं था। फिर 2005 में अजमेर में मैंने देखा कि हम जैसों ने भी अपनी एक दुनिया बनाई है तो मैंने भी खुद को इस काबिल बनाया। मैंने बीएड किया है। मूक बधिर बच्चों को पढ़ाना चाहती हूं। अभी मैं बीइंग ह्यूमन स्टोर में काम कर रही हूं। मैं चाहती हूं कि सामान्य लोगों की दुनिया को भी समझ सकूं। इसके साथ मुझे मॉडलिंग का शौक है।


    - फूलमती ने बताया कि प्राग (यूरोप) में मिस्टर एंड मिस डेफ वर्ल्ड कॉम्पीटिशन में इंडिया को रिप्रेज़ेंट किया। मैंने हियरिंग फैशन शोज़ में पार्टिसिपेट किया। हां, हियरिंग मॉडल्स जैसे मौके हमें नहीं मिलते, लेकिन कोई अफसोस नहीं। पहले दुख होता था अपने इस अधूरेपन पर। लेकिन आज मैं अपनी इस पहचान से बहुत खुश हूं। तकलीफ सिर्फ तब होती है जब लोग दया से देखते हैं... मैं सामान्य लोगों से किसी भी लिहाज़ से कम नहीं हूं।

  • कुछ ऐसी है इस मॉडल की कहानी, सुन-बोल नहीं सकती पर ऐसे पाया ये मुकाम
    +9और स्लाइड देखें
    फूलमती सलमान खान की फैशन लाइन बीइंग ह्यूमन पर काम करती है। वे सलमान से मिल भी चुकी हैं।
  • कुछ ऐसी है इस मॉडल की कहानी, सुन-बोल नहीं सकती पर ऐसे पाया ये मुकाम
    +9और स्लाइड देखें
    फूलमती इंदौर डेफ बायलिंग्वल एकेडमी से पढ़ाई कर रही हैं।
  • कुछ ऐसी है इस मॉडल की कहानी, सुन-बोल नहीं सकती पर ऐसे पाया ये मुकाम
    +9और स्लाइड देखें
    चार भाई-बहनों में फूलमती सुन बोल नहीं सकती।
  • कुछ ऐसी है इस मॉडल की कहानी, सुन-बोल नहीं सकती पर ऐसे पाया ये मुकाम
    +9और स्लाइड देखें
    फूलमती ने यूरोप में मिस्टर एंड मिस डेफ वर्ल्ड कॉम्पीटिशन में इंडिया को रिप्रेज़ेंट किया।
  • कुछ ऐसी है इस मॉडल की कहानी, सुन-बोल नहीं सकती पर ऐसे पाया ये मुकाम
    +9और स्लाइड देखें
    हियरिंग फैशन शोज़ में पार्टिसिपेट किया।
  • कुछ ऐसी है इस मॉडल की कहानी, सुन-बोल नहीं सकती पर ऐसे पाया ये मुकाम
    +9और स्लाइड देखें
    बीइंग ह्यूमन स्टोर में काम कर रही हैं।
  • कुछ ऐसी है इस मॉडल की कहानी, सुन-बोल नहीं सकती पर ऐसे पाया ये मुकाम
    +9और स्लाइड देखें
    बचपन से था मॉडलिंग का शौक।
  • कुछ ऐसी है इस मॉडल की कहानी, सुन-बोल नहीं सकती पर ऐसे पाया ये मुकाम
    +9और स्लाइड देखें
    एक कार्यक्रम के दौरान फूलमती।
  • कुछ ऐसी है इस मॉडल की कहानी, सुन-बोल नहीं सकती पर ऐसे पाया ये मुकाम
    +9और स्लाइड देखें
    यूरोप में किया इंडिया को रिप्रजेंट।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Indore News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: National Girl Child Day Special Story Indore Mp
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×