--Advertisement--

फिल्म पद्मावत को लेकर मप्र में उग्र प्रदर्शन, सड़कों पर की आगजनी और तोड़फोड़

फिल्म पद्मावत को लेकर मप्र में उग्र प्रदर्शन, सड़कों पर की आगजनी और तोड़फोड़

Danik Bhaskar | Jan 22, 2018, 02:32 PM IST
फिल्म पदमावत को लेकर करणी सेना फिल्म पदमावत को लेकर करणी सेना

इंदौर। संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ का 25 जनवरी को रिलीज होना भी आसान नहीं लग रहा है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद इस पर विरोध फिर तेज हो गया है। फिल्म के विरोध में सोमवार को इंदौर सहित प्रदेशभर में करणी सेना ने उग्र प्रदर्शन किया। उज्जैन में करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने वाहन चालकों ने मारपीट की और हाईवे को जाम कर आगजनी और तोड़फोड़ की। करणी सेना के लोगों ने सड़क पर जमकर उत्पात मचाया और वाहन चालकों की पिटाई लगाई। लोगों ने भागकर खुदको बचाया। विवाद को देखते हुए मप्र और राजस्थान की सरकारों ने फिल्म की रिलीज रुकवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर की, जिसकी सुनवाई 23 जनवरी को होगी।



- इंदौर में फ़िल्म के विरोध में करणी सेना सड़क पर उतर आई। इन्होंने बायपास टोल नाके पर बड़ी संख्या में एकत्रित होकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान कार्यकर्ताओं ने बीच सड़क पर गाड़ियों के टायर जलाकर विरोध जताया। इसके चलते बायपास पर लंबा जाम लग गया। विरोध प्रदर्शन में महिलाएं भी शामिल हुईं। उनका कहना था कि ये सिर्फ फिल्म का विराेध नहीं है। बल्कि स्त्री के सम्मान की लड़ाई है। इसका विरोध हम हर स्तर पर करेंगे।

- करणी सेना के विरोध को देखते हुए इंदौर से गुजरात जाने वाली बस सेवाओं का संचालन बंद कर दिया गया है। वहीं करणी सेना के कुछ लोगा मॉल में भी पहुंचे और फिल्म रिलीज नहीं करने की चेतावनी देते हुए मूवी के पोस्टर फाड़ दिए। मॉल सहित सभी सिनेमाघरों में भारी पुलिस बल मौजूद है। इंदौर के अलावा भोपाल, रतलाम, उज्जैन सहित प्रदेशभर में विरोध हो रहा है।


- वहीं राजधानी भोपाल के लाल घाटी चौराहा पर विरोध प्रदर्शन किया गया है। इस दौरान महिलाओं ने ट्रैफिक रोक दिया। करणी सेना ने उग्र प्रदर्शन करते हुए टायरों में आग लगा दी। वाहनों में तोड़फोड़ के साथ मारपीट की भी कोशिश की गई।


- उज्जैन और रतलाम में भी करणी सेना का उग्र प्रदर्शन देखने को मिला। उज्जैन-कोटा रोड बड़ी संख्या में पहुंचे कार्यकर्ताओं ने जाम लगा दिया और गाड़ी चालकों से मारपीट करते हुए आगजनी कर दी। विरोध के चलते आगर रोड पर कई किमी लंबा जाम लग गया। वाहनों में तोड़फोड़ के साथ बसकर्मियों से मारपीट भी की गई। कार्यकर्ताओं ने उपद्रव के बाद यह करते हुए सड़क से हटे कि यदि फिल्म रिलीज हुई तो इससे उग्र आंदोलन होगा। सुरक्षा के मद्देनजर पुलिस ने कोटा मार्ग बंद कर दिया।

फिल्म को लेकर विवाद क्या है?
- राजस्थान में करणी सेना, बीजेपी लीडर्स और हिंदूवादी संगठनों ने इतिहास से छेड़छाड़ का आरोप लगाया है। राजपूत करणी सेना का मानना है कि ​इस फिल्म में पद्मिनी और खिलजी के बीच सीन फिल्माए जाने से उनकी भावनाओं को ठेस पहुंची। फिल्म में रानी पद्मावती को भी घूमर डांस करते दिखाया गया है। जबकि राजपूत राजघरानों में रानियां घूमर नहीं करती थीं। हालांकि, भंसाली साफ कर चुके हैं कि ये ड्रीम सीक्वेंस फिल्म में है ही नहीं। करणी सेना के प्रमुख लोकेंद्र सिंह कालवी ने 25 जनवरी को फिल्म पद्मावत की रिलीज के विरोध में भारत बंद का भी एलान किया है।