Hindi News »Madhya Pradesh News »Indore News» Racketier Sagar Jain On Police Remand Indore Mp

रूम में पहले से होती थीं लड़कियां, हर महीने इतने रुपए पे करने होते थे अश्लील साइट को

रूम में पहले से होती थीं लड़कियां, हर महीने इतने रुपए पे करने होते थे अश्लील साइट को

Rajeev Tiwari | Last Modified - Dec 13, 2017, 06:24 PM IST

इंदौर।शहर में देह व्यापार के लिए तीन अश्लील वेबसाइट संचालित करने वाले बीटेक हर्षल झा की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने बुधवार को इसके सरगना सागर जैन और उसके भाई कपिल को जेल से दो दिन के रिमांड पर लिया है। हर्षल इन्हीं के लिए 20 हजार रुपए माह के पैकेज पर अश्लील वेबसाइट संचालित करता था। इनका हर काम ऑन लाइन होता था। चाहे वह होटल का रूम नंबर हो या फिर लड़की से जुड़ी पूरी जानकारी।


सागर ने बताया कि वह शहर के बड़े होटलों में ऑनलाइन रूम बुक करवाता था। ग्राहकों के लिए फ्लाइट टिकट की बुकिंग उसका साथी मनोज शर्मा निवासी पुणे करता था। युवतियों के होटल में जाने के बाद ग्राहकों को भेजा जाता था। वेबसाइट मेनटेन और एक्टिव रखने के लिए भाई कपिल के नाम से सिम ले रखी थी। दोनों के जेल जाने के बाद उनका भाई हेमंत देह व्यापार संचालित कर रहा है। पुलिस उसकी भी तलाश कर रही है।

20 हजार रुपए किराए पर ली थी दो वेबसाइट
पूछताछ में टीम को ये जानकारी मिली है कि हर्षल झा से दोस्ती के बाद सागर ने उसके माध्यम से विकास बत्ता उर्फ राहुल से 20 हजार रुपए प्रतिमाह में दो अश्लील वेबसाइट किराए पर ली। वेबसाइट मेनटेन और एक्टिव रखने के लिए सागर ने अपने भाई कपिल के नाम से मोबाइल सिम इश्यू कराई। वेबसाइट पर आने वाले ग्राहकों की जानकारी हर्षल, सागर को देता था। फिर उन्हें युवतियां उपलब्ध कराई जाती थीं। सागर ने इंदौर के और भी दलालों के नामों का खुलासा किया है, जो शहर में देह व्यापार चला रहे हैं। टीम को विकास की तलाश जारी हैं।

अलग-अलग वेबसाइट से करते थे बुकिंग
पूछताछ में सागर ने बताया कि वह 2011 से देह व्यापार कर रहा है। एजेंटों के माध्यम से इंदौर में हाई प्रोफाइल युवतियों को बुलवाता था, जो शहर के बड़े होटल में रुकती थीं। इन होटल में अलग-अलग वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन रूम बुक करता था। रूम और फ्लाइट की बुकिंग का काम सागर का साथी मनोज शर्मा निवासी पुणे करता था। युवतियों के होटल में जाने के बाद ग्राहकों को भी वहीं भेज दिया जाता था। पुलिस इनके अलावा इनके अन्य साथियों की जानकारी भी जुटा रहा है। इस गिरोह में और कौन-कौन शामिल है, उनकी भी तलाश की जा रही है।

विदेशी युवतियों को भी बुलाते थे इंदौर
- राज्य साइबर सेल इंदौर के एसपी जितेंद्र सिंह ने बताया कि गिरफ्तारी के बाद हर्षल ने सागर के लिए वेबसाइट संचालित करना बताया था। सागर और उसका कपिल पहले से देह व्यापार के मामले में जेल में बंद था। साइबर पुलिस ने दोनों को रिमांड पर लेकर पूछताछ की तो इंदौर के और भी दलालों के नाम का खुलासा हुआ, जो शहर में देह व्यापार संचालित करते और विदेशी युवतियों को शहर में बुलाते हैं। जल्द उनकी भी गिरफ्तारी की जाएगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Indore

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×