Hindi News »Madhya Pradesh News »Indore News »News» Rajneesh Gurbani Becomes 2nd Bowler To Take Hat Trick In Ranji Final Indore Mp

रणजी ट्रॉफी के फाइनल में विदर्भ के रजनीश गुरबानी ने लगाई हैट्रिक, 44 साल बाद हुआ ऐसा

Rajeev Tiwari | Last Modified - Dec 30, 2017, 02:59 PM IST

होल्कर स्टेडियम में चल रहे 84वें रणजी ट्रॉफी फाइनल में गुरबानी ने दिल्ली के खिलाफ हैट्रिक लिया।
  • रणजी ट्रॉफी के फाइनल में विदर्भ के रजनीश गुरबानी ने लगाई हैट्रिक, 44 साल बाद हुआ ऐसा
    +2और स्लाइड देखें
    इससे पहले, 1973 में गुजरात के बी कल्याण सुंदरम ने मुंबई के खिलाफ फाइनल में हैट्रिक जमाई थी।

    इंदौर.होल्कर स्टेडियम में चल रहे 84वें रणजी ट्रॉफी फाइनल में 24 साल के रजनीश गुरबानी की शानदार बॉलिंग की वजह से विदर्भ ने दिल्ली की टीम को 295 रन पर समेट दिया। रजनीश ने शनिवार को दूसरे दिन का खेल शुरू होने के कुछ देर बाद ही हैट्रिक लगाई। 44 साल बाद दूसरा मौका है, जब किसी प्लेयर ने यह कारनामा किया। इससे पहले 1973 में तमिलनाडु के बी कल्याण सुंदरम ने मुंबई के खिलाफ फाइनल में हैट्रिक जमाई थी।

    दूसरी बार रणजी के फाइनल में लगी हैट्रिक

    - गुरबानी से पहले 1972/73 के फाइनल में मुंबई के खिलाफ तमिलनाडु के बी कल्याण सुंदरम ने हैट्रिक ली थी। उस वक्त मुंबई टीम का नाम बॉम्बे था। सुंदरम के शानदार प्रदर्शन के बाद भी तमिलनाडु की टीम 123 रन से हार गई थी।

    - सेमीफाइल में गुरबानी के प्रदर्शन की बदौलत ही विदर्भ ने कर्नाटक को हराकर फाइनल में जगह बनाई थी। इस मैच में गुरबानी ने कुल 12 विकेट लिए थे, दूसरी पारी में दूसरी इनिंग में 7 विकेट झटके थे। उनके इस परफॉर्मेंस की बदौलत विदर्भ ने कर्नाटक को हराया था।

    ऐसे गिरे दिल्ली के लगातार 3 विकेट

    - दूसरे दिन शनिवार को दिल्ली टीम के ध्रुव शौरे और विकास मिश्रा ने 271 रन से आगे खेलना शुरू किया।

    - गुरबानी ने तीनों प्लेयर्स बोल्ड किए। सबसे पहले गुरबानी ने 101वें ओवर की पांचवीं गेंद पर विकास मिश्रा को, फिर अगली बॉल पर नवदीप सैनी को बोल्ड किया।

    - फिर अगले ओवर की पहली गेंट पर 150 के करीब पहुंच रहे ध्रुव शौरे को आउट किया। इस तरह दिल्ली की टीम 295 रन पर ऑलआउट हो गई।

    - रजनीश ने 24 ओवर में केवल 59 रन देकर कुल 6 विकेट लिए।

    मौजूदा रणजी सीजन की दूसरी हैट्रिक

    - मौजूदा रणजी सीजन की यह दूसरी हैट्रिक है। कर्नाटक के तेज गेंदबाज विनय कुमार ने क्वार्टर फाइनल में मुंबई के खिलाफ हैट्रिक ली थी।

    83 साल के इतिहास में पहली बार एक साल में एक ही ग्राउंड पर दो रणजी फाइनल

    -83 साल के रणजी ट्रॉफी इतिहास में ये पहला मौका है, जब एक साल में दो रणजी फाइनल हो रहे हैं और वो भी एक ही ग्राउंड पर।

    - इससे पहले 2016-17 का रणजी फाइनल मुकाबला भी इंदौर के होल्कर स्टेडियम में गुजरात और मुंबई के बीच हुआ था। 10 से 14 जनवरी तक हुए इस मुकाबले में गुजरात चैम्पियन बना था।

  • रणजी ट्रॉफी के फाइनल में विदर्भ के रजनीश गुरबानी ने लगाई हैट्रिक, 44 साल बाद हुआ ऐसा
    +2और स्लाइड देखें
    रजनीश गुरबाणी ने तीन विकेट दो ओवर में तीन लगातार गेंद पर लिए। खास बात यह रही उसने ये रिकॉर्ड तीन प्लेयर्स को बोल्ड कर बनाया।
  • रणजी ट्रॉफी के फाइनल में विदर्भ के रजनीश गुरबानी ने लगाई हैट्रिक, 44 साल बाद हुआ ऐसा
    +2और स्लाइड देखें
    मौजूदा रणजी सीजन की यह दूसरी हैट्रिक है। कर्नाटक के तेज गेंदबाज विनय कुमार ने क्वार्टर फाइनल में मुंबई के खिलाफ हैट्रिक ली थी।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Indore News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Rajneesh Gurbani Becomes 2nd Bowler To Take Hat Trick In Ranji Final Indore Mp
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      More From News

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×